DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जलवायु परिवर्तन पर चिंता जाहिर की

भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा आयोजित विश्व मानक दिवस पर वक्ताओं ने जलवायु परिवर्तन पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि इस पर काबू नहीं पाया गया, तो मानव समुदाय को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। पर्यावरण को संतुलित करने के लिए इसके कारकों पर विजय पाना जरूरी है।

वैज्ञानिक एवं ब्यूरो प्रमुख एसके खन्ना ने कहा कि विश्व मानक दिवस मनाने के पीछे लोगों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विश्व अर्थव्यवस्था को उन्नत करना है। इसके साथ व्यापार, उद्योग, सरकारी और विश्वव्यापी उपभोक्ताओं के मध्य भागीदारी की आवश्यकता और भूमिका को जागरूक करना है।

मुख्य अतिथि डॉ. पीएस चंदुरकर ने कहा कि क्षेत्रीय तापमान और पर्यावरण को इग्नोर नहीं किया जा सकता। वैश्विक उत्सर्जन अपने स्तर से बढ़ रहा है। ग्लेशियर का गलना, वस्तु क्षेत्र का सिकुड़ना बढ़ता जा रहा है। सौ सालों में सामान्य वैश्विक तापमान में 0.75 डिग्री बढ़ोतरी पाई गई है। डॉ. एएस सरपाल ने मानकों के माध्यम से जलवायु के बदलाव के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हाइड्रोजन का उपयोग फ्यूल की तरह करने से कार्बनडाइऑक्साइड उत्सजर्क स्तर में कमी होगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जलवायु परिवर्तन पर चिंता जाहिर की