DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्खास्त महिला टीचर ने शिक्षक पर लगाया अश्लीलता का आरोप

फर्जी तरीके से नियुक्ति पाने के आरोप में बर्खास्त एक महिला शिक्षक को जब वेतन नहीं मिला, तो उसने वेतन से संबंधित कामकाज देखने वाले शिक्षक पर अश्लील हरकत और रिश्वतखोरी का आरोप लगा डाला। उसने इस आरोप के लिए एक सीडी भी बना रखी है। आरोप है कि उसने पहले सीडी दिखाकर ब्लैकमेल करने की कोशिश की और बात नहीं बनने पर ढिंढोरा पीटना शुरू कर दिया। मामले की भनक लगने पर डीएम ने सीडी को संबंधित कोतवाली में सौंपते हुए बीएसए को जांच के आदेश दिए हैं।

महिला शिक्षक ऊषा शर्मा ने दादरी क्षेत्र के प्राइमरी टीचर महावीर शर्मा के खिलाफ यह सब किया है। मामला दादरी क्षेत्र के फर्जी शिक्षकों से जुड़ा है। इंटर डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफर के तहत करीब 200 से भी अधिक शिक्षकों की नियुक्ति गौतमबुद्धनगर जनपद में हुई थी। इनमें से फर्जी तरीके से नियुक्ति पाने पर बर्खास्त हुए डेढ़ दर्जन शिक्षकों में शामिल ऊषा शर्मा ने वेतन रोके जाने पर गुस्से में यह हरकत की।

ऊषा ने वेतन की लिस्ट बनाने वाले शिक्षक महावीर को अपने जाल में फंसाने की साजिश रची। ऊषा ने एक वीडियो सीडी जारी की है, जिसमें कथित तौर पर शिक्षक महावीर को अश्लील हरकतों से लेकर, रिश्वतखोरी तक में शामिल दिखाया गया है। आरोप है कि ऊषा ने सीडी बनाकर महावीर पर वेतन रिलीज करने के लिए दबाव बनाया और जब बात नहीं बनी, तो उसने इसके जरिए ब्लैकमेल करने की कोशिश भी की।

मामले की जानकारी मिलने पर डीएम दीपक अग्रवाल ने सीडी को कोतवाली में सौंपने और बीएसए को जांच करने का आदेश दिया। बीएसए डा. धर्मवीर सिंह ने बर्खास्त महिला शिक्षक ऊषा शर्मा के आरोपों पर हैरानी जताई है। उनके अनुसार, जांच के बाद ही किसी तरह की टिप्पणी की जा सकती है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बर्खास्त महिला टीचर ने शिक्षक पर लगाया अश्लीलता का आरोप