DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गेम्स में भी सड़कों पर रहेगा वाहनों का दबाव

कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान देशी-विदेशी मेहमानों की आवभगत के लिए बेशक दिल्ली के पास कई योजनाएं हैं। सड़कों से वाहनों का दबाव कम करने को भी कई तरह की कवायद शुरू हो गई हैं। लेकिन फरीदाबाद पुलिस के पास ऐसी कोई योजना नहीं है। गेम्स के दौरान भी फरीदाबाद में वाहनों का रेलम-पेल रहेगी। गेम्स के चलते मेहमानों के लिए यहां कई तरह के इंतजाम किए जा रहे हैं। 

कॉमनवेल्थ गेम्स के मद्देनजर दिल्ली और एनसीआर में सैलानियों का भारी दबाव रहने की उम्मीद है। फरीदाबाद में भी सैलानियों को ठहराने के लिए कमरों की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा यहां के रिजार्टस, मनोरंजन क्लब, गोल्फ क्लब में भी मेहमानों का आना जाना रहेगा। ताजमहल देखने सैलानी फरीदाबाद होकर ही गुजरेंगे।

माना जा रहा है कि गेम्स के दौरान एनएच दो, अरावली से होकर गुड़गांव जाने वाली और शहर की प्रमुख सड़कों पर ट्रैफिक का भारी दबाव होगा। गेम्स से पहले ही स्थिति ट्रैफिक पुलिस के काबू से बाहर है, बावजूद इसके पुलिस महकमे ने अब तक कोई ठोस पहल नहीं की है।
इस बारे में पुलिस कमिश्नर पीके अग्रवाल का कहना है कि कॉमनवेल्थ गेम्स को लेकर ट्रैफिक मैनेजमेंट ठीक करने, सर्विस लेन बनाने, कम्यूनिकेशन व लोगों को नियमबद्धता का पाठ पढ़ाने के लिए प्रपोजल तैयार करवाया जा रहा है। इसे मंजूरी के लिए राज्य सरकार के पास भेजा जाएगा।

--यहां होंगा सैलानियों के कमरों का इंतजाम
सूरजकुंड, होडल, दमदमा, दारुहेड़ा

--फरीदाबाद में होटल सुविधाएं
सूरजकुंड स्थित एंट्रीयम, राजहंस, मोटेल व हट्स
सेक्टर 16 में मैगपाई
नीलम बाटा रोड पर होटल डिलाइट, राजमंदिर व मिलेनियम
बड़खल में ग्रे फॉल्कन व मोटेल
बल्लभगढ़ में नाहर सिंह महल
होडल में दबच्कि

--कमरों की व्यवस्था
हरियाणा को 10 हजार कमरों की व्यवस्था करनी है।
6 हजार कमरे की व्यवस्था है।
4 हजार कमरों की टेंट लगाकर पूर्ति की जाएगी।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गेम्स में भी सड़कों पर रहेगा वाहनों का दबाव