DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवि में शुरू किए जाएंगे कई नये कोर्स

गढ़वाल केंद्रीय विवि की पहली  एकेडिमिक कॉउंसिल की बैठक बुधवार को विवि के प्रशासनिक भवन में संपन्न हुई, जिसमें शिक्षा संबंधी आर्डिनेंस पारित किये। बुधवार को कॉउंसिल की बैठक में जो निर्णय लिये गये उनमें विवि में अभी तक संचालित हो रहे संकायों की जगह स्कूलों की स्थापना, पीएचडी के लिए नये आर्डिनेस, प्रवेश संबंधी नियम, विवि में नये संचालित होने वाले पाठ्यक्रम, आरक्षण की स्थिति सहित अनेक निर्णय शामिल हैं।

विवि की मीडिया सेल के अध्यक्ष प्रो. ए आर नौटियाल ने बताया कि विवि में अब संकाय की जगह स्कूल स्थापित किये जाएंगे, जिनकी संख्या 15 होगी। पूर्व में इनकी संख्या 16 निर्धारित की गई थी।  प्रो. नौटियाल ने बताया कि फॉरेन लैंग्वेज प्रोग्राम को अब आर्ट एवं कम्यूनिकेशन के साथ ही शामिल किया गया है, उच्च शिखरीय पादप कार्यकी शोध संस्थान हैप्रेक कृषि विभाग के अंतर्गत आएगा।

विभागाध्यक्ष पद को रोटेशन प्रकिया लागू होगी और यदि किसी लेक्चरर को विभागाध्यक्ष बनाना पड़ता है तो संबंधित लेक्चरर को पांच का अनुभव होना चाहिए। बैठक में विवि में होने वाले शोध कार्यों के लिए नये आर्डिनेंस भी पास किये गये। पीएचडी के लिए अब अभ्यर्थियों को प्रवेश परीक्षा से गुजरना होगा और और शोध के लिए चयनित टॉपिक पर भी विवि की शोध समिति अंतिम निर्णय देगी। प्रत्येक शोधार्थी को छह माह का शोध पद्वति शास्त्र का कोर्स करना अनिवार्य होगा। इसके अलावा कुछ सेल्फ फाइनेस कोर्स को चरणबद्व तरीके से रेगुलर कोर्स में बदलने पर भी सहमति बनी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विवि में शुरू किए जाएंगे कई नये कोर्स