DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उजड़ गया रोशन लाल का परिवार

उजड़ गया रोशन लाल का परिवार

मथुरा में बुधवार को घटी ट्रेन दुर्घटना ने जहां वल्लभगढ़ निवासी रोश्नलाल से उनकी पत्नी तथा पुत्र-पुत्री को छीन लिया तो उदयपुर के सत्यनारायण के भी बेटा बेटी को उनसे जुदा कर दिया।

ऐसी ही स्थिति गोवा एक्सप्रेस की पैंट्री कार में बैरे की डयूटी कर रहे जयप्रकाश तिवारी तथा गणपत के पुत्र संतोष निवासी नीमच की रही। जिनके लिए यह अंतिम रेल यात्रा हुई। यात्रा में मरे 22 लोगों में से 18 की पहचान हो पाई है। इस हादसे में मारे गए लोगों में मेवाड़ एक्सप्रेस के गार्ड एस के पुरी के अलावा रोशनलाल श्रीवास्तव की पत्नी विभा लक्ष्मी पुत्री प्रिया तथा पुत्र शिवम, उदयपुर के सत्यनारायण के पुत्र रवि व पुत्री राधा, हेमंत पुत्र रामनिवास करौली (राजस्थान), गीता पत्नी विश्वनाथ (दिल्ली), सोमी उर्फ कुलदीप (करौली), रामसंजीवन (मथुरा), सुमन शर्मा पत्नी योगेश शर्मा (दिल्ली), विनीता पत्नी अरुण (दिल्ली), कृष्णा देवी पत्नी श्रीमनु (गाजियाबाद), मुन्नी पत्नी ओमप्रकाश (दिल्ली) तथा कांति देवी पत्नी राम खिलाड़ी (वाराह राज) है।

घायलों में जिला अस्पताल में भर्ती किए गए बंसती, योगेश, आशीष, सुमनलता रमेकोडिस्ट अस्पताल में राजश्री (22), सत्यनारायण (55), हितेश (3) माहेश्वरी अस्पताल में पकंज (12), श्रीमती कांता मीणा (30) वल्लभगढ़, रावकुमार (22), शैली (10) वल्लभगढ़ तथा दिल्ली के दो बच्चे दीपा (8), रिंकू (7) है। एक घायल को मिलिटरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सिटी मजिस्ट्रेट रामअरुण यादव ने बताया कि देर शाम तक अधिकांश घायलों के परिजन अपने स्तर से उनका इलाज कराने के लिए छुट्टी कराकर ले गए, जबकि तीन घायलों को सुबह ही दिल्ली तथा दो को आगरा के लिए स्थानांतरित कर दिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उजड़ गया रोशन लाल का परिवार