DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका में सिख सुरक्षा अधिकारी रख सकेंगे पगडी़, दाढ़ी

अमेरिका में सिख सुरक्षा अधिकारी रख सकेंगे पगडी़, दाढ़ी

अमेरिका में सिखों के नागरिक अधिकारों की एक ऐतिहासिक जीत हुई है। अमेरिकी सरकार ने अब पगडी़ बांधने और दाढ़ी रखने वालों सिखों को संघीय सुरक्षा अधिकारियों के रूप में काम करने की अनुमति दे दी है।

अमेरिकी सिखों के एक समूह 'सिख कोएलिशन' ने कहा कि एक सिख सुरक्षा अधिकारी द्वारा भेद-भाव बरतने का मुकदमा दायर करने के बाद पगडी़ लगाने और दाढ़ी रखने पर लगी रोक हटा ली गई है। इस सिख अधिकारी का कहना था कि वह अपने काम के वक्त न तो पगडी बांध सकता है और ना ही दाढ़ी रख सकता है।

इस मुकदमे में हुए फैसले से सिख समुदाय की मानवाधिकारों संबंधी एक बडी़ जीत हुई है। ऐसा पहली बार हुआ है जब कानून बनाने वाली एक संघीय संस्था ने सिखों के विश्वास से संबंधित वस्तुओं को अपनाने के प्रति उदारता दिखाई है। 'मेजर गिल' के नाम से मशहूर रघबीर सिंह की शिकायत पर 'सिख कोएलीशन' और सेन फ्रांसिस्को की 'मनवाधिकारों की वकीलों की समिति' की संयुक्त कोशिश से यह मुकदमा दायर किया गया।

मेजर गिल 34 बरस तक भारतीय सेना में काम कर चुके हैं। वह 2004 में अपने परिवार के साथ अमेरिका चले गए थे और 2005 से एक कंपनी 'एनसीएलएन20' में नौकरी शुरू कर फ्रेस्नो स्थित संघीय इमारत की सुरक्षा के लिए 'फेडरल प्रोटेक्टवि सर्विस' (एफपीएस) के साथ काम करने लगे थे।

एफपीएस के सुरक्षाकर्मियों की वर्दी में हैट पहनना और दाढ़ी न रखना जरूरी था। एफपीएस की पहनावे संबंधी नीतियों की वजह से मेजर गिल न तो पगडी बांध सकते थे और ना ही दाढ़ी रख सकते थे। एफपीसी की इन नीतियों के खिलाफ मदद के लिए मेजर गिल नवम्बर 2005 में 'सिख कोएलीशन' के पास पहुंचे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका में सिख सुरक्षा अधिकारी रख सकेंगे पगडी़, दाढ़ी