DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2002 से अब तक हुई बडी़ ट्रेन दुर्घटनाएं

देशभर में फैली रेल सेवा को अक्सर किसी न किसी दुर्घटना के कारण नुकसान उठाना पड़ता है। 2002 से अब तक हुई बडी़ ट्रेन दुर्घटनाओं का घटनाक्रम इस प्रकार है :

पांच जनवरी, 2002 : महाराष्ट्र के घाटनदुर स्टेशन पर सिकंदराबाद-मनमाड़ एक्सप्रेस के एक खडी़ मालगाडी से टकरा जाने से 21 लोगों की मौत हो गई और 41 घायल हो गए।

23 मार्च, 2002 : पटना से मुंबई जाने वाली लोकमान्य तिलक सुपरफास्ट एक्सप्रेस की 13 बोगियों के मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर में पटरी से उतर जाने से सात लोग घायल हो गए।

15 मई 2003 : अमृतसर जाने वाली फ्रंटियर मेल की तीन बोगियों में आग लग जाने से महिलाओं एवं बच्चों सहित 38 लोग मारे गए एवं 13 लोग घायल हो गए।

22 जून 2003 : करवार-मुंबई सेंट्रल हॉलीडे विशेष ट्रेन के महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग जिले के वैभववाडी़ स्टेशन पार करते ही पटरी से उतर जाने से 53 लोग मारे गए एवं 25 लोग घायल हो गए।

दो जुलाई 2003 : वारंगल में ट्रेन का इंजन एवं इसके साथ लगे दो बोगियों के एक पुल से गिर जाने से 18 लोगों की मौत हो गई।

नौ सितंबर 2002 : बिहार के औरंगाबाद जिले में हावड़ा-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस की एक बोगी के धावे नदी में गिर जाने से सौ यात्री मारे गए और डेढ़ सौ घायल हो गए।

27 सितंबर 2004 : गुवाहाटी जाने वाली कंचनजंगा एक्सप्रेस के पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर जिले में मानव रहित फाटक पर एक ट्रक से टकरा जाने से 30 लोगों की मौत हो गई।

15 दिसंबर 2004 : पंजाब के जालंधर से 40 किलोमीटर दूर अहमदाबाद जाने वाली जम्मू तवी एक्सप्रेस के लोकल ट्रेन से आमने-सामने हुई टक्कर में 11 महिलाओं सहित 34 लोगों की मौत हो गई और करीब 50 लोग घायल हो गए।

18 अगस्त 2006 : सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन के पास चेन्नई-हावड़ा एक्सप्रेस की दो बोगियों में आग लग गई।

नौ नवंबर 2006 : पश्चिम बंगाल में रेल दुर्घटना में करीब 40 लोगों की मौत हो गई और 15 लोग घायल हो गए।

एक दिसंबर 2006 : बिहार के भागलपुर जिले में डेढ़ सौ वर्ष पुराने एक पुल को तोड़ने के दौरान पुल वहां से गुजर रही एक ट्रेन पर गिर गया जिसमें 35 लोगों की मौत हो गई एवं 17 लोग घायल हो गए।

13 फरवरी 2009 : उडीसा के जयपुर रोड़ स्टेशन पर कोरोमंडल एक्सप्रेस की 12 बोगियां पटरी से उतर गईं।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के पास अगस्त 1995 में पुरषोत्तम एक्सप्रेस और कालिंदी एक्सप्रेस के टकरा जाने से ढा़ई सौ से ज्यादा लोग मारे गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2002 से अब तक हुई बडी़ ट्रेन दुर्घटनाएं