DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक पाकिस्तानी को गांधीवादी विचारों के प्रोत्साहन के लिए पुरस्कार

एक पाकिस्तानी को गांधीवादी विचारों के प्रोत्साहन के लिए पुरस्कार

बेल्जियम के एक मानवाधिकार कार्यकर्ता और पाकिस्तानी समाज सेवक को संयुक्त राष्ट्र के प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजा गया है जिसकी स्थापना शांति दूत महात्मा गांधी के जीवन से प्रेरित होकर की गई थी। बेल्यिजम के फ्रानोइस होतार्त तथा पाकिस्तान के अब्दुल सत्तार इदी को सहिष्णुता और अहिंसा को प्रोत्साहित करने के लिए वर्ष 2009 के यूनेस्को मदनजीत सिंह पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

इन दोनों को पुरस्कार स्वरूप दस हजार डॉलर की राशि में से आधा आधा हिस्सा मिलेगा तथा इन्हें 16 नवंबर को अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस पर यह पुरस्कार दिया जाएगा। यूनेस्को ने अपने पेरिस स्थित मुख्यालय से जारी बयान में यह जानकारी दी है। वर्ष 1995 में इस प्रतिष्ठित पुरस्कार की स्थापना महात्मा गांधी की 125वीं जयंती पर की गयी थी और इसमें भारतीय राजनयिक तथा यूनेस्को के सदभावना राजदूत मदनजीत सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी।

सहिष्णुता और अहिंसा को प्रोत्साहित करने के लिए हर दो वर्ष पर यह पुरस्कार व्यक्तियों या संस्थानों को प्रदान किया जाता है। इससे पूर्व, यह पुरस्कार म्यांमार की नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आंग सान सू की और निर्वासित बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन को भी दिया जा चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक पाकिस्तानी को गांधीवादी विचारों के प्रोत्साहन के लिए पुरस्कार