DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत के लिए खेलना ही सबसे बड़ा लक्ष्य: भूटिया

भारत के लिए खेलना ही सबसे बड़ा लक्ष्य: भूटिया

भारतीय फुटबॉल के सबसे बड़े आइकन और टीम के कप्तान बाइचुंग भूटिया ने कहा है कि उनका सबसे बड़ा लक्ष्य भारतीय टीम के लिए खेलना है।
 
अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईआईएफ) ने भूटिया को 100 मैचों में देश का प्रतिनिधित्व करने पर सोमवार को सम्मानित किया। एआईआईएफ ने नेहरू कप की जीत में मुख्य भूमिका निभाने वाले टीम के गोलकीपर सुब्रतो पाल को वर्ष 2009 के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के पुरस्कार से नवाजा।
 
इस अवसर पर भूटिया ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह कभी भारत के लिए सौ मैच खेल पाएंगे। अपने अगले लक्ष्य के बारे में पूछे जाने पर भूटिया ने कहा कि मैं सिर्फ भारत की ओर से लगातार खेलते रहना चाहता हूं और नेहरू कप की तरह ही भारत को अन्य टूर्नामेंटों में विजय दिलाना चाहता हूं।

लगातार मिल रही सफलता के बावजूद भूटिया ने भारतीय टीम द्वारा कम अंतरराष्ट्रीय मैच खेले जाने पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम का प्रदर्शन भारत में बढ़िया रहा है और जब तक टीम विदेशों में नहीं खेलेगी तब तक टीम को अपनी वास्तविक क्षमताओं का पता नहीं चलेगा।
 
उधर वर्ष के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी चुने जाने पर प्रसन्नचित सुब्रतो ने कहा कि इस पुरस्कार को पाकर वह बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि उनका अगला लक्ष्य भारत के लिए एएफसीकप में बढ़िया प्रदर्शन करना है।
गौरतलब है कि भारत ने इस टूर्नामेंट के लिए 24 वर्ष बाद क्वालीफाई किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत के लिए खेलना ही सबसे बड़ा लक्ष्य: भूटिया