DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेनों की भिड़ंत में 22 यात्रियों की मौत

ट्रेनों की भिड़ंत में 22 यात्रियों की मौत

दिल्ली जाने वाली गोवा संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के सुबह मथुरा में मेवाड़ एक्सप्रेस से टकरा जाने से कम से कम 22 यात्रियों की मौत हो गई। रेल मंत्री ममता बनर्जी ने मथुरा में हुए रेल हादसे की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने के आदेश दिए हैं।

ममता ने कोलकाता में कहा, ‘‘मैंने इस घटना की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने का आदेश दिया है। समिति जांच करने के बाद रिपोर्ट मुझे सौंपेगी। हादसे में मारे गए हर व्यक्ति के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।’’

जिलाधकारी दिनेश कुमार शुक्ल से मिली जानकारी के अनुसार यह हादसा उस समय हुआ जब तड़के पौने पांच बजे मेवाड़ एक्सप्रेस मथुरा जंक्शन से करीब पांच किलोमीटर दूर आगे निकल चुकी थी और तभी किसी यात्री ने चेन पुलिंग कर उसे रोक दिया।

उन्होंने बताया कि एक बार रुकने के बाद जब तक मेवाड़ एक्सप्रेस दोबारा आगे बढ़ने लगी तो पीछे से आ रही गोवा एक्सप्रेस उससे जा टकराई। इस भिड़ंत में सबसे ज्यादा नुकसान गार्ड की बोगी को पहुंचा जिसके आधे हिस्से में लग्गेज वैन था और आधे हिस्से में सवारियां भरी हुई थीं। त्योहार का मौका होने के कारण यह हिस्सा पूरी तरह से यात्रियों से खचाखच भरा हुआ था।

पूर्व-मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश वाजयेयी ने कहा कि गोवा एक्सप्रेस ने मेवाड़ एक्सप्रेस को सुबह चार बजकर 50 मिनट पर पीछे से टक्कर मार दी। घटनास्थल पर मौजूद आगरा के क्षेत्रीय रेलवे प्रबंधक आरडी त्रिपाठी ने कहा कि प्रथम दृष्टया लगता है कि गोवा एक्सप्रेस के चालक ने गलती की।

मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि कुछ यात्री क्षतिग्रस्त डिब्बे में फंसे हुए हैं। फंसे लोगों में बच्चें भी शामिल हैं। रेलवे बोर्ड के सदस्य (यातायात) श्रीप्रकाश ने कहा कि कुछ यात्री फंसे हैं और उनका बचाव जारी है।

यह पूछने पर कि कितने लोग अंदर फंसे हैं उन्होंने कहा कि वास्तव में हमें पता नहीं। वरिष्ठ अधिकारी अभियान की देखरेख कर रहे हैं और हमने नागरिक प्रशासन एवं सेना की भी सहायता ली है।

क्षतिग्रस्त डिब्बे से फंसे यात्रियों को निकालने के लिए रेलवे प्रशासन गैस कटर एवं फोम कटर का इस्तेमाल कर रहा है। सेना के जवान भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं और बचाव कार्य में मदद कर रहे हैं।

वहीं रेल मंत्री ममता बनर्जी ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रूपए के मुआवजे की घोषणा की है। गंभीर रूप से घायल यात्रियों को एक-एक लाख रूपए और मामूली रूप से जख्मी लोगों को 10 हजार रूपए का मुआवजा दिया जाएगा। उत्तरप्रदेश के कृषि मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी ने भी मृतकों के परिजनों के लिए 10-10 लाख रूपए का मुआवजा एवं नौकरी की घोषणा की है।
  
दुर्घटना के बारे में एक यात्री ने कहा कि हमें गहरा झटका महसूस हुआ। हम बैठे थे और ऊपर के बर्थ के लोग गिर पड़े। फिर हम ट्रेन से निकलकर भागे।

लोगों की सुविधा के लिए रेलवे ने मथुरा और आगरा में हेल्पलाइन नंबर बनाया है जो क्रमश:- 0565-2402008 और 0562-24211041 है।
    
दुर्घटना के मद्देनजर उत्तर रेलवे ने आगरा-निजामुद्दीन इंटरसिटी एक्सप्रेस को रद्द कर दिया और दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस, आंध्रप्रदेश एक्सप्रेस एवं कर्नाटक एक्सप्रेस सहित कुछ ट्रेनों का मार्ग बदल दिया है। उन्हें टुंडला के रास्ते भेजा जा रहा है। बहरहाल दिल्ली और आगरा के बीच ट्रेन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेनों की भिड़ंत में 22 यात्रियों की मौत