DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गला रेत कर किन्नरों की हत्या

जामिया नगर इलाके के शाहीन बाग में दो किन्नरों की गला रेतकर हत्या कर दी गई। वारदात के बाद से वहां काम करने वाला ड्राइवर और किन्नर का मुंह बोला बेटा कार लेकर फरार हैं। घर में सामान बिखरे होने की वजह से पुलिस वारदात के पीछे लूटपाट की आशंका जता रही है। पिछले चार दिनों से मारे गए किन्नरों और फरार हुए दोनों लड़कों का मोबाइल फोन भी बंद था।

पुलिस के मुताबिक बदरपुर इलाके में रहने वाला खलील अहमद मंगलवार की सुबह तैयब लेन स्थित किन्नरों के तीन मंजिला मकान पर गया था। लेकिन काफी आवाज लगाने के बाद भी दरवाजा नहीं खुला। कुछ समय बाद खलील वहां दोबारा पहुंचा, जब तक अन्य किन्नर भी वहां आ गएथे। काफी देर तक दरवाजा खटखटाने पर जब कोई अंदर से नहीं आया तो मामले की सूचना पड़ोसियों को दी गई। इसके बाद जानकारी मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

फिर ताला तोड़कर घर में पुलिस ने प्रवेश किया मकान से काफी बदबू आ रही थी। वहां रहने वाली किन्नर मीना (30) का शव बाथरूम में पड़ा था। उसके गले पर धारदार हथियार से वार किया गया था। फर्श पर काफी खून भी पड़ा हुआ था। पहली मंजिल पर पुलिस को किन्नर बिमलेश (45) का शव पड़ा मिला जिसकी गर्दन पर वार किया गया था। घर का सारा सामान भी बिखरा पड़ा था।  पुलिस को घटनास्थल से कुछ नकदी भी मिली है। जांच में पता चला है कि वारदात के बाद से दो माह पूर्व रखा गया ड्राइवर सुल्तान (19) और खलील का 16 वर्षीय बेटा फिरोज (बदला नाम) मारूति वैन लेकर फरार हैं। फिरोज को बिमलेश मुंह बोला बेटा मानती थी। माना जा रहा है कि दीपावली पर हुई कमाई को लेकर आपसी बंटवारे या फिर लूटपाट की वजह से किन्नरों की हत्या की गई है। पुलिस खलील की भूमिका संदिग्ध मानते हुए उसके अलावा कुछ किन्नरों से भी पूछताछ कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गला रेत कर दो किन्नरों की हत्या