DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिवाकांत त्रिपाठी ने लगाया धमकी भरे फोन का आरोप

सपा नेता अमर सिंह के खिलाफ कथित रूप से 500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराने वाले कानपुर के शिवाकांत त्रिपाठी का आरोप है कि उसके और उसके परिजनों को मोबाइल फोन पर धमकियां दी जा रही हैं और इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई है।

 इस बाबत कानपुर पुलिस का कहना है कि उसे त्रिपाठी को दी जा रही किसी भी धमकी के बारे में कोई जानकारी नही है और न ही उन्होंने पुलिस से कोई शिकायत की है। शहर में स्कूल के मालिक और कई आश्रम चलाने वाले शिवाकांत त्रिपाठी ने बताया कि उसके मोबाइल फोन पर पुणे और दिल्ली के नंबरांे से फोन आ रहे हैं कि अमर सिंह के खिलाफ मुकदमे में शपथपत्र दे दीजिए और मुकदमे वापस ले लीजिए इसके बदले में आपको दीपावली का तोहफा दिया जाएगा।

 यह फोन दो लैंड लाइन और एक मोबाइल से आ रहे हैं तथा ऐसी पहली काल 17 अक्तूबर को आई थी तथा अन्य काल 18 अक्तूबर को आई और अभी ऐसे फोन आने का सिलसिला जारी है। उनके और उनके परिजनों के मोबाइल फोन पर ये सारे धमकी भरे फोन वीआईपी नंबर या किसी प्राइवेट नंबर से आ रहे हैं और उन्हें बार-बार इस बात के लिए धमकाया जा रहा है कि वह शपथपत्र दे दें और अमर सिंह के खिलाफ दर्ज कराई गई एफआईआर वापस ले लें।

त्रिपाठी ने यह भी कहा कि उन्होंने इस बारे में कानपुर के चकेरी पुलिस स्टेशन, कानपुर की डीआईजी तथा उत्तर प्रदेश शासन के आला अधिकारियों को जानकारी दे दी है।
 
त्रिपाठी को फोन पर दी जा रही धमकी के बारे में जब कानपुर के पुलिस अधीक्षक पश्चिम डी. के. चौधरी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनकी चकेरी पुलिस स्टेशन से भी बात हुई है। वहां ऐसी कोई भी धमकी की शिकायत त्रिपाठी की तरफ से दर्ज नही कराई गई है और न ही किसी अन्य पुलिस अधिकारी को ऐसी किसी धमकी के बारे में कोई शिकायती पत्र दिया गया है। त्रिपाठी पता नहीं किस आधार पर ऐसा कह रहे हैं कि उन्होंने पुलिस को धमकी की शिकायत के बारे में जानकारी दी है। अगर भविष्य में ऐसी कोई शिकायत आई तो मामले की जांच की जाएगी।
 
गौरतलब है कि कानपुर के श्यामनगर इलाके की रामनगर कालोनी में रहने वाले शिवाकांत त्रिपाठी ने 15 अक्तूबर को कानपुर के बाबूपुरवा थाने में अमर सिंह तथा अन्य के खिलाफ 500 करोड़ की अवैध संपत्ति बनाने का मामला दर्ज कराया था। बाद में उत्तर प्रदेश शासन ने इस मामले को कोलकाता पुलिस को सौंप दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिवाकांत त्रिपाठी ने लगाया धमकी भरे फोन का आरोप