DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी प्रेवश परीक्षा : 80 फीसदी का मायावती ने किया विरोध

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में प्रवेश परीक्षा के लिए इण्टर परीक्षा में कम से कम 80 प्रतिशत अंक लाने की अनिवार्यता रखने के केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री ने कड़ा विरोध जताते हुए इस निर्णय को अविवेकपूर्ण करार दिया है ।
    

मुख्यमंत्री मायावती ने आज सिब्बल को भेजे अपने पत्र में इस निर्णय को छात्र विरोधी करार देते हुए कहा है कि इससे छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो जायेगा । इस तरह का निर्णय वही सरकार ले सकती है जिसका आम आदमी से कोई लेना देना नही है। मायावती ने अपने पत्र में सवाल उठाते हुए कहा कि प्रश्न केवल इस बात का नही है कि उत्तर प्रदेश शिक्षा बोर्ड की इण्टर परीक्षाओं में 80 फीसदी से उपर अंक पाने वाले छात्रों की संख्या कम होती है बल्कि सवाल यह है कि केन्द्र सरकार इस प्रकार का अवरोध पैदा कर आखिर किसका भला करना चाहती है।
    

उन्होंने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उसके इस निर्णय से साधन सम्पन्न वर्ग के छात्रों को काफी फायदा पहुंचेगा, जबकि समाज का गरीब और साधनहीन तबका आईआईटी में प्रवेश के अवसरों से वंचित हो जायेगा ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईआईटी प्रेवश परीक्षा : 80 फीसदी का मायावती ने किया विरोध