DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक ने तालिबान के खिलाफ अमेरिका से मांगी मदद

पाक ने तालिबान के खिलाफ अमेरिका से मांगी मदद

पाकिस्तान ने अमेरिका से कहा है कि अफगानिस्तान में मौजूद उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) सुरक्षा बलों को दक्षिणी वजीरिस्तान में हो रही तालिबानी घुसपैठ पर रोक लगानी चाहिए। समाचार पत्र 'द न्यूज' के मुताबिक प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने सोमवार को अमेरिकी केंद्रीय कमान के प्रमुख डेविड पेट्रियस से यह बात कही।

प्रधानमंत्री ने उन्हें बताया कि पश्चिमोत्तर सीमांत प्रांत के मलकंद डिविजन में पाकिस्तान पहले से ही तालिबान के खिलाफ मोर्चा खोले है और उसे अब दक्षिणी वजीरिस्तान में भी तालिबान के खिलाफ मोर्चा लेना पड़ रहा है। पाकिस्तान दो मोर्चो पर तालिबान से लोहा ले रहा है।

अखबार के मुताबिक गिलानी ने पेट्रियस से कहा कि मलकंद में तालिबान के खिलाफ युद्ध हम लगभग जीत चुके हैं जबकि दक्षिणी वजीरिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ हम निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं। इन क्षेत्रों में आतंकवाद पनपने के बुनियादी कारणों की पहचान कर वहां के सामाजिक-आर्थिक विकास पर जोर दिया जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मलकंद और दक्षिणी वजीरिस्तान में चलाए गए ऑपरेशन ने आतंकवाद मिटाने की हमारी प्रतिबद्धता को साबित किया है। इसके अलावा उन्होंने गठबंधन समर्थन कोष और विदेशी सैन्य कोष के तहत जारी की जाने वाली राशियों तथा पाकिस्तान की सेना के लिए आवश्यक सुरक्षा उपकरणों को मुहैया कराने का अमेरिका से आग्रह किया।

इस मुलाकात के दौरान पेट्रियस ने हाल ही में पाकिस्तान में हुए आतंकवादी हमलों में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की और महत्वपूर्ण मुद्दों पर राजनीतिक सहमति बनाने के लिए गिलानी के प्रयासों की सराहना भी की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक ने तालिबान के खिलाफ अमेरिका से मांगी मदद