DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कलमाड़ी से मिले गिल, फेनेल से भी बात करेंगे

कलमाड़ी से मिले गिल, फेनेल से भी बात करेंगे

राष्ट्रमंडल खेल महासंघ और दिल्ली में अगले साल होने वाले खेलों की आयोजन समिति के बीच मतभेद सुलझाने की कवायद शुरू करते हुए खेलमंत्री एमएस गिल ने आयोजन समिति के प्रमुख सुरेश कलमाड़ी से मुलाकात की।

कलमाड़ी सुबह गिल के निवास पहुंचे जहां खेलमंत्री ने तैयारियों की प्रगति के बारे में जानकारी ली और उन विवादित मसलों पर भी बात की, जिनकी वजह से सीजीएफ और आयोजन समिति में ठनी हुई है।

गिल ने बैठक के बाद कहा कि मैंने कलमाड़ी से मुलाकात की और सभी मसलों पर लंबी बातचीत हुई। मैं सीजीएफ प्रमुख माइक फेनेल से भी फोन पर बात करूंगा। मेरी मौजूदगी में सीजीएफ के सीईओ माइक हूपर और कलमाड़ी के बीच 28 अक्टूबर को लंदन में बैठक भी होगी।

खेलमंत्री ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि सभी मुद्दे सुलझ जाएंगे और अगले साल यहां होने वाले इन खेलों को सफल बनाने के लिए सब मिल कर काम करेंगे।

आयोजन समिति (ओसी) और राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) के बीच मुख्य रूप से दो चीजों को लेकर मतभेद है- एक तो तकनीकी समीक्षा पैनल और दूसरा हूपर का दिल्ली में रहना। सीजीएफ महासभा के बाद पिछले सप्ताह फेनेल ने साफ तौर पर कहा था कि अगर दिल्ली के खेलों को सफल बनाना है तो आयोजकों को इन खेलों की तैयारियों में बहुत तेजी दिखानी होगी।

फेनेल ने कहा था कि सीजीएफ ने एक तकनीकी समीक्षा पैनल बनाये जाने का फैसला किया जो इन खेलों की तैयारियों पर लगातार निगरानी रखेगा, लेकिन आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी को फेनेल का यह सुझाव पसंद नहीं आया और उन्होंने इसे एकसिरे से नकार दिया। इसके अलावा कलमाड़ी ने सीजीएफ के चोटी के अधिकारी माइकल हूपर को अनुपयोगी बताते हुए उन्हें हटाने की मांग की थी।

कलमाड़ी ने कहा कि मैंने फेनेल से कहा था कि किसी ऐसे व्यक्ति को नियुक्त किया जाए जो हमारे काम आ सके। इसी बीच आयोजन समिति ने हूपर से कह दिया है कि वह यहां ओसी के मुख्यालय नहीं आएं और जब तक सीजीएफ वापस नहीं बुलाती तो वे घर से ही काम करें।

इसके अलावा सीजीएफ ने हूपर का पूरा समर्थन करते हुए कहा कि कार्यकारी बोर्ड को उनपर पूरा विश्वास है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कलमाड़ी से मिले गिल, फेनेल से भी बात करेंगे