DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाना इंदिरापुरम बना कोतवाली

लगातार बढ़ते क्राइम व एरिया को देखते हुए थाना इंदिरापुरम को कोतवाली बना दिया गया है। अब थाने की कमान एसओ की बजाए इंस्पेक्टर देंखेगे। नए थाना प्रभारी के रूप में इंस्पेक्टर राजेश द्विवेदी को इंदिरापुरम का चार्ज सौंपा गया है। जबकि इंदिरापुरम एसओ जितेंद्र कालरा को एसओजी में भेज दिया गया है।


गौरतलब है कि जिले के सभी थानों को काफी समय से कोतवाली का दर्जा दिए जाने की मांग चल रही है, लेकिन प्रदेश में इंस्पेक्टरों की कमी होने के चलते ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है। गाजियाबाद जिले में साल भर के दौरान इंदिरापुरम थाने में सबसे ज्यादा क्राइम ग्राफ होने के चलते इसके संबंध में शासन को रिपोर्ट भेजी गई थी। जिसमें थाने को कोतवाली बनाने की मांग की गई थी।


शासन से निर्देश मिलने के बाद इंदिरापुरम को कोतवाली का दर्जा दे दिया गया है। अब थाने की कमान इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी के हाथों में रहेगी। एसएसपी अखिल कुमार ने बताया कि बढ़ती आबादी व क्राइम ग्राफ को देखते हुए जिले में सात नए थाने और बनने हैं। जिसमें इंदिरापुरम में खोड़ा, सिहानी गेट में नंदग्राम, साहिबाबाद में टीला मोड़, लोनी में इंद्रापुरी समेत प्रस्तावित थाने जल्द शुरू होने हैं। उम्मीद है अगले साल तक सभी थानों की शुरूआत हो जाए।


जहां तक सभी थानों के इंस्पेक्टर स्तर के होने की बात है। यह तभी संभव है, जब हर थाने के हिसाब से जिले में इंस्पेक्टर मौजूद हो। वर्तमान में जिले में इतने इंस्पेक्टर नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:थाना इंदिरापुरम बना कोतवाली