DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्थाना की मौत में जेल प्रशासन का कोई फाल्ट नहीं : एके पांडा

नजारत कांड के आरोपी आशुतोष अस्थाना की मौत के मामले में जांच कर रहे डीआईजी (मेरठ जेल) एके पांडा ने जेल प्रशासन को क्लीन चिट दी है। सोमवार को उन्होंने डासना जेल का निरीक्षण किया। हिन्दुस्तान से हुई बातचीत में उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि अस्थाना की मौत में जेल प्रशासन की तरफ से कोई गलती नहीं हुई।


उन्होंने बताया कि जैसे ही उसकी तबियत बिगड़ी, उसे तत्काल जेल में बने अस्पताल में ले जाया गया। जहां से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सोमवार को उन्होंने अस्थाना की बैरक नंबर पांच का निरीक्षण किया। साथ ही वहां मौजूद बंदीरक्षकों से भी बातचीत की। उन्होंने दावा किया कि जेल प्रशासन की ओर से अस्थाना को लेकर कोई कोताही नहीं बरती गई। उनका कहना था कि जेल में हुई अस्थाना की मौत के बारे में उन्हें शासन की ओर से लिखित में जांच के अभी तक कोई निर्देश नहीं मिले हैं। चूंकि जेल में होने वाली हरेक मौत में डीआईजी की तरफ से रिपोर्ट भेजी जाती है। इसलिए वह रूटीन निरीक्षण के लिए डासना आए थे। दूसरी ओर एडीएम सिटी एसके श्रीवास्तव ने भी सोमवार को जेल का निरीक्षण किया। उनका कहना था कि हर महीने जेल का निरीक्षण किया जाता है। त्यौहार के बाद भी जेल का निरीक्षण किया जाता है। जेल में मौत हुई थी, इसलिए वह अस्थाना की बैरक में गए।


वहां उन्होंने उसके साथ बंद कैदियों से मुलाकात की। उनका कहना था कि जेल में खराब खाने की शिकायतें मिल रही थी, लेकिन जब वह यहां पहुंचे, तो सब कुछ ठीक था। जेल में क्षमता से ज्यादा कैदी होने की बात तो उन्होंने मानी, लेकिन खराब खाने जैसी किसी भी बात से इंकार किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अस्थाना की मौत में जेल प्रशासन का कोई फाल्ट नहीं