DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुर्घटना के कारण फोर्स इंडिया की उम्मीदें टूटी

दुर्घटना के कारण फोर्स इंडिया की उम्मीदें टूटी

फोर्स इंडिया टीम की ब्राजील ग्रां प्री में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद उस समय धुल गई जब इसके चालक एड्रियन सुतिल की कार पहले ही लैप में टोयोटा के चालक जानरे टत्त्लि की कार से भिड गई। इस टक्कर के तुरंत बाद ही सुतिल रेस से बाहर हो गए। फोर्स इंडिया के एक अन्य चालक टोनियो लुईजी के लिए भी यह रेस काफी मुश्किलों भरी रही और वह इस दौरान गियानकालरे फिसिचेला के आसपास ही मंडराते रहे और 12 वें स्थान पर रहे।
 
इससे पहले सुतिल ने रेस की शुरूआत तीसरे स्थान से की लेकिन रेस शुरू होने के तुरंत बाद फेरारी के किमी रेकोनन की कार ने ओवरटेक करने के चक्कर में सुतिल की कार के पहिए को रगड़ दिया। इसके बाद ट्रूलि सुतिल को ओवरटेक करने के चक्कर में उनकी कार के काफी करीब आ गए तथा दोनों कारों में टक्कर हो गई। फिर दोनों चालक बाहर आकर एक दूसरे पर दुर्घटना का आरोप लगाने लगे।
 
सुतिल के रेस से हटने के बाद निराश फोर्स इंडिया के मालिक विजय माल्या ने कहा कि उन्हें सुतिल से काफी उम्मीद थी खासतौर पर उन्होंने अभ्यास में जिस तरह का प्रदर्शन किया था। उन्होंने कहा कि हमें इस रेस में सुतिल से काफी उम्मीदें थी। सुतिल ने क्वालीफाईंग राउंड में काफी अच्छा प्रदर्शन किया था और हमें उम्मीद थी कि हम कुछ और अंक हासिल कर लेंगे। लेकिन दुर्भाग्य से कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

उधर इस दुर्घटना से भन्नाए सुतिल ने ट्रूलि पर अपनी भडास निकाली। उन्होंने कहा कि यह मेरी गलती नहीं थी क्योंकि वह पीछे से आ रहे टोयोटा के चालक को नहीं देख सकते थे। मेरी शुरूआत अच्छी रही थी। रेकोनन के आगे निकलने से मैंने एक पोजीशन जरूर गंवाया था। लेकिन इसी दौरान रेकोनन ने की कार का अगला हिस्सा टूट गया। मैं उनका लगातार पीछा कर रहा था लेकिन इस टक्कर के बाद मेरा कार पर से नियंत्रण खत्म हो गया। इसी दौरान ट्रूलि आगे निकलना चाह रहे थे लेकिन यह काफी मूर्खतापूर्ण था क्योंकि वहां से निकलने की जगह थी ही नहीं और मैं उसे देख भी नहीं पा रहा था। मेरे लिए यह पैसे का सवाल नहीं था बल्कि मैं तो शुरू में ही रेस से बाहर हो गया और यह मेरे लिए काफी दुखदाई बात रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुर्घटना के कारण फोर्स इंडिया की उम्मीदें टूटी