DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उम्दा शुरुआत से चहका ‘नंदी ग्राम’

ऐतिहासिक ददरी मेले में नंदी ग्राम की शुरुआत 18 अक्टूबर से हो गयी। शुरुआत के दो दिनों में मेले में मवेशियों व पशु व्यापारियों की आवक देखकर नगरपालिका खासी उत्साहित नजर आ रही है। नपा प्रशासन को उम्मीद है कि आगे चलकर मेले में और भी रौनक बढ़ेगी।

पशु व्यापारियों ने भी जमकर खरीदारी की। पहले दिन नंदी ग्राम से नगरपालिका को एक लाख 57 हजार 780 रुपये की आमदनी हुई, जबकि दूसरे दिन की पहली पाली तक एक लाख 96 हजार 120 रुपये की आय हो चुकी थी। इस प्रकार डेढ़ दिनों में नगरपालिका को तीन लाख 53 हजार नौ सौ रुपये की आय हो चुकी थी।

मेला क्षेत्र में पशुओं के इलाज के लिए पशु चिकित्सक के अलावा चारे, पानी व रोशनी की पूरी व्यवस्था की गयी है। जगह-जगह व्यापारियों के रहने के लिए टेंट व रावटी डाले गये हैं। हर साल ददरी मेला की शुरुआत पशु मेला से होती है। इस साल पशु मेला में पशुओं की आवक अच्छी होने के कारण काफी रौनक है। नगरपालिका प्रशासन ने पशुओं व व्यापारियों के लिए काफी व्यवस्था भी की है। व्यापारियों की सुविधा को देखते हुए जगह-जगह टेंट व रावटी लगाये गये हैं।

पशुओं व पशु व्यापारियों की सुरक्षा के भी इंतजाम किये गये हैं। पशुओं के लिए पशु चिकित्साधिकारी की तैनाती की गयी है तथा चारे, पानी व रोशनी का प्रबंध किया गया है। मेले में बिहार प्रांत के सीतामढ़ी, गोपालगंज, कटिहार, छपरा, सिवान, बक्सर, आरा, समस्तीपुर, मोतिहारी आदि स्थानों से पशु व्यापारी पशुओं को लेकर पहुंचे हैं। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों से भी पशु व्यापारी मेले में पशुओं की खरीद-फरोख्त के लिए पहुंचे हैं, जिससे मेले की रौनक बढ़ गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उम्दा शुरुआत से चहका ‘नंदी ग्राम’