अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे मोर्चे की सरकार में शामिल भी हो सकती है माकपा

ांग्रेस एवं भारतीय जनता पार्टी से इतर दलों का वैकल्पिक नीति आधारित तीसरा मंच बनाने की कवायद में जुटी माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) लोकसभा चुनावों के बाद ऐसी वैकल्पिक सरकार बनने की स्थिति में सरकार में शामिल भी हो सकती है। सीपीएम के महासचिव प्रकाश करात ने सोमवार को एक प्रेस कांफ्रेस में एक संबंधित सवाल पर सरकार में शामिल होने की संभावना को खारिज नहीं किया। अलबता यह जरूर कहा कि तीसरी ताकतों की सरकार बनने की स्थिति में पार्टी का शीर्ष सांगठनिक निकाय, केन्द्रीय समिति इसमें शामिल होने या नहीं होने के बारे में फैसला करेगा। वह नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय एके गोपालन भवन मेंसीपीएम का चुनाव घोषणा पत्र जारी करने के बाद संवाददाताआें के सवालों का उत्तर दे रहे थे। आत्म विश्वास से भरपूर दिख रहे सीपीएम महासचिव ने राजनीतिक दलों के इस नए ध्रुवीकरण पर खासकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी के वक्तव्य पर टिप्पणी करते हुए कहा कि चुनाव नतीजे आते-आते मुखर्जी को भी समझ आ जाएगा कि तीसरे मोर्चे का अर्थ क्या है। मुखर्जी ने कहा था कि वह तीसरे मोर्चे का मतलब समझ नहीं पा रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोर्चे की सरकार में शामिल हो सकती है सीपीएम