DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों तक तैयार नहीं, जामा मस्जिद और हनुमान मंदिर

राष्ट्रमंडल खेल 2010 के दौरान यहां जुटने वाले दुनिया भर के सैलानियों के कार्यक्रम में भले ही धार्मिक स्थानों का दौरा भी शामिल हो लेकिन जामा मस्जिद और कनाट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर जैसे लोकप्रिय स्थान शायद ही तब तक तैयार हो पायें।

सरकारी अधिकारियों और धार्मिक स्थानों के प्रबंधकों के बीच वाकयुद्ध थमने का नाम ही नहीं ले रहा। अधिकारियों का दावा है कि समय रहते सारी समस्यायें हल हो जायेंगी जबकि प्रबंधक ऐसा नहीं मानते।

जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने कहा कि उन्होंने कई बार एमसीडी, डीडीए और सरकारी अधिकारियों को पत्र लिखे हैं।

उन्होंने कहा, जामा मस्जिद में काम चल रहा है। अधिकारियों को यह नहीं भूलना चाहिये कि ऐतिहासिक स्थान होने के साथ यह इबादत का स्थान भी है। इसे लेकर खास एहतियात बरतनी चाहिये।

दिल्ली नगर निगम के प्रवक्ता दीप माथुर ने कहा , हम इसका ध्यान रखेंगे। हम चाहते हैं कि धार्मिक स्थानों के प्रबंधक हमारे साथ मिलकर काम करें। हम राष्ट्रमंडल खेलों से पहले इन स्थानों को विकसित करना चाहते हैं। हमने महत्वाकांक्षी परियोजना बनाई है जिस पर जल्दी अमल होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलों तक तैयार नहीं, जामा मस्जिद और हनुमान मंदिर