DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मछलियों की जीवनशैली जानने को जीपीएस का इस्तेमाल

मछलियों की जीवनशैली जानने को जीपीएस का इस्तेमाल

मछलियां भले ही जल की रानी हों, लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इस वाटर क्वीन की निजता में सेंध लगा दी है। अब उनका पीछा करने के लिये जीपीएस (ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम) का इस्तेमाल किया जा रहा है।

दरअसल, अब तक मछलियों का सही तरीके से पीछा कर पाने में दिक्कत होती थी। समुद्र की कठिन परिस्थितियों में पारंपरिक जीपीएस से इनका पीछा करना आसान नहीं होता था।

प्लेमाउथ में ब्रिटिश मेरीन बायोलॉजीकल एसोसिएशन का एक दल डेविड सिम्स के नेतृत्व में सनफिश में जीपीएस लगाने में सक्षम हो गया हैं। मछली किस स्थान पर है उसका तत्काल पता लगाने के लिए फास्टोक जीपीएस प्रणाली का इस्तेमाल किया गया।

वैज्ञानिकों के मुताबिक, मछलियों में लगाई जाने वाली यह पट्टी लंबी अवधि तक उनका पीछा करती हैं यह पट्टी मछलियों के पिछले फिन (डॉर्सल फिन) में एक रस्सी की मदद से बांधी जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मछलियों की जीवनशैली जानने को जीपीएस का इस्तेमाल