DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उम्र लंबी न होने का संकेत है आंखों की समस्या

उम्र लंबी न होने का संकेत है आंखों की समस्या

आंखों की ठीक न होने वाली समस्या के कारण प्रौढ़ और बुजुर्ग व्यक्तियों की उम्र, सामान्य व्यक्तियों की उम्र की तुलना में कम हो सकती है।

अनुसंधानकर्ताओं के एक अंतरराष्ट्रीय दल ने अध्ययन के बाद पाया कि आंखों की ठीक न होने वाली समस्या के कारण 49 साल से 74 साल तक की उम्र के लोगों की मौत का खतरा बढ़ जाता है। आर्काइव्स ऑफ ऑप्थेल्मोलॉजी में प्रकाशित एक खबर में कहा गया है कि प्रौढ़ों और बुजुर्गों में दृष्टि बाधिता का संबंध मृत्यु के खतरे से हो सकता है।

अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि दृष्टिबाधिता के कारण चोट लगने, अवसाद, बॉडी मास इन्डेक्स (बीएमआई) कम होने, चलने की गति धीमी होने, गिर जाने जैसे खतरे बने रहते हैं और इनसे भी मौत की आशंका बढ़ जाती है।

अनुसंधानकर्ताओं ने 49 साल और इससे अधिक उम्र के 3,654 व्यक्तियों में वर्ष 1992 से 1994 के दौरान, इसके पांच साल बाद और फिर दस साल बाद दृष्टिबाधिता का अध्ययन किया। अध्ययन के पहले वर्ष के 13 साल बाद 1,273 प्रतिभागियों की मृत्यु हो गई। ये सभी लोग आंखों की ऐसी समस्या से ग्रस्त थे, जिसे ठीक नहीं किया जा सकता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उम्र लंबी न होने का संकेत है आंखों की समस्या