DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

18 अक्तूबर को नहर में आना था पानी

गाजियाबाद, नोएडा और दिल्ली के लाखों लोगों को पेयजल संकट से एक सप्ताह और जूझना पड़ेगा। पहले रविवार रात को चलने वाली गंग नहर के चलने में एक सप्ताह की देरी हो गई है। अब नहर में 25 अक्तूबर की रात को ही पानी आएगा। इससे 28 सितंबर से जल संकट से जूझ रहे लोगों का इंतजार और बढ़ गया है।


जनवरी 2010 में हरिद्वार में लगने वाले महाकुंभ के लिए गंग नहर को 28 सितंबर से 18 अक्तूबर तक बंद कर दिया गया था। गंगा नदी की साफ-सफाई, पुलों की मरम्मत आदि कामों के लिए गंग नहर को बंद किया गया। गंग नहर बंद होने से नोएडा, गाजियाबाद और दिल्ली के लाखों लोगों के गले सूखे हुए हैं। इन शहरों में लोगों को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। रविवार रात को गंग नहर में पानी आना था। मगर लोगों को गंगा जल के लिए एक सप्ताह और इंतजार करना पड़ेगा। मेरठ खंड गंग नहर के अधिशासी अभियंता अजयपाल सिंह ने बताया कि गंगा की साफ-सफाई का कार्य अभी पूरा नहीं हो पाया है। पुलों और घाटों की मरम्मत का कार्य भी तेजी से चल रहा है। अवैध खनन पर भी सिंचाई विभाग के अफसर निगाह रखे हुए हैं। काम पूरा नहीं होने के कारण ही गंग नहर में रविवार को पानी नहीं आएगा। अब गंग नहर में 25 अक्तूबर की रात्रि में ही पानी छोड़ा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:18 अक्तूबर को नहर में आना था पानी