DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांगेराम गुप्ता को पुलिस ने दी क्लीन चिट

मतदान के दिन इनेलो और कांग्रेस समर्थकों के बीच हुए झगड़े के मामले में पुलिस ने शिक्षा एवं परिवहन मंत्री मांगेराम गुप्ता तथा उनके परिजनों को क्लीन चिट दे दी है। पुलिस अधीक्षक बी सतीश बालन ने रविवार को अपने घर पर आयोजित पत्रकार सम्मेलन में कहा कि चुनाव के दिन इनेलो और कांग्रेस समर्थकों के बीच हुए झगड़े के मामले में मिली शिकायत के आधार पर डीएसपी जगबीर सिंह ढुल के नेतृत्व में जांच की गई।

पुलिस जांच में पाया गया कि मांगेराम गुप्ता और उनके बेटे महावीर गुप्ता, पौत्र अमित गुप्ता, गोविन्द गुप्ता आदि के खिलाफ लगाए गए आरोप निराधार हैं। जिस समय यह झगड़ा चल रहा था, मांगेराम गुप्ता और उनके परिजनों में से कोई मौके पर नहीं था और वे अपने घर पर ही थे। एसपी ने साथ ही यह भी स्पष्ट कर दिया कि पुलिस प्रशासन किसी के भी दबाव में काम नहीं कर रहा है।

बता दें कि 13 अक्तूबर को मतदान पूरा होने के बाद शिक्षा मंत्री मांगेराम गुप्ता के समर्थकों द्वारा गांधी नगर में इनेलो समर्थक राजू लखीना के मकान पर पथराव किए जाने के सिलसिले में शहर थाना पुलिस ने जीन्द से कांग्रेस उम्मीदवार और शिक्षामंत्री मांगेराम गुप्ता, उनके बेटों महावीर गुप्ता, राधेश्याम गुप्ता, पौत्र गोविंद गुप्ता तथा मांगेराम समर्थक सुधीर जिंदल और प्रकाश गुप्ता समेत सात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया था।

हिन्दू कन्या कॉलेज के सामने दोनों गुटों के बीच हुए पथराव के सिलसिले में शहर थाना पुलिस ने नप चेयरमैन विनोद आशरी, पूर्व पार्षद रघुबीर भारद्वाज, बबली शर्मा, सुरेश, सुधीर महाजन समेत 60 से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

जीन्द के गांधी नगर निवासी गणपत राय लखीना ने पुलिस को दी शिकायत में कहा था कि हिंन्दू कन्या कॉलेज में दोनों पक्षों के बीच झड़प और पथराव के बाद मांगेराम गुप्ता के समर्थक उनके गांधी नगर स्थित निवास पर जमा हो गए। यहां गुप्ता ने समर्थकों को भड़काऊ भाषण दिया। इसके तुरंत बाद गुप्ता के समर्थकों ने पड़ोस में ही इनेलो प्रत्याशी डॉ. हरिचंद मिढ़ा के कट्टर समर्थक राजू लखीना के दो मकानों पर पथराव कर दिया।

इस घटना में मकानों के शीशे टूट गए तथा यहां खड़ी गाड़ियों को भी नुकसान हुआ। लखीना ने आरोप लगाया कि खुद शिक्षा मंत्री गुप्ता ने समर्थकों को भड़का कर मकानों पर हमला करवाया था। हमला उसके पूरे परिवार को जान से मारने की नीयत से करवाया गया था। गणपत राय की शिकायत पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 307, 148, 149, 427, 436, 440, 449, 450 और 452 के तहत शिक्षामंत्री मांगेराम गुप्ता सहित सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

मांगेराम गुप्ता ने आरोपों को नकारते हुए इसे इनेलो की साजिश करार दिया था। गुप्ता ने कहा था कि प्रशासन ने विरोधी दलों के नेताओं के कहने पर उनके खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मांगेराम गुप्ता को पुलिस ने दी क्लीन चिट