DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोमवार से बंद होंगे केदार के कपाट

ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ के कपाट सोमवार को भैय्या दूज के दिन वैदिक मंत्रोच्चर के साथ शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। कपाट बंद होने के पश्चात भगवान केदार बाबा की उत्सव डोली अपने सैकड़ों भक्तों के साथ शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर के लिए प्रस्थान करेगी। भगवान केदारनाथ की उत्सव डोली सोमवार को कपाट बंद होने के बाद प्रथम पड़ाव गौरीकुंड, सोनप्रयाग होते हुए रामपुर रात्रि विश्रम करेगी।

भगवान केदारनाथ के कपाट बंद होने पर जहां मद्रास रेजीमेंट के बैंड-बाजों की धुनों से केदारपुरी भक्तिमय रहेगी। वहीं सैकड़ों भक्तों द्वारा भगवान केदारनाथ की जय-जयकार से केदारपुरी गुंजायमान किया जायेगा। भैय्या दूज के दिन वेद पाठियों द्वारा वैदिक-मंत्रोच्चर के साथ केदारनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिये जायेंगे।

कपाट बंद होने के पश्चात सैकड़ों भक्तों की अगुवाई में केदार बाबा की उत्सव डोली केदारनाथ से गौरीकुंड, सोनप्रयाग होते हुए रामपुर रात्रि विश्रम हेतु पहुंचेगी। जबकि 20 अक्टूबर को रामपुर से प्रात: उत्सव डोली बडासू, फाटा, मैखण्डा, व्यूंग, नारायणकोटि, नाला होते हुए गुप्तकाशी स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचेगी।

जहां पहली बार दो दिवसीय केदार-काशी महोत्सव आयोजित किया जाएगा। 21 अक्टूबर को केदार-काशी महोत्सव समापन के बाद केदारनाथ की उत्सव डोली गुप्तकाशी होते हुए शीतकालीन पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में प्रवेश करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सोमवार से बंद होंगे केदार के कपाट