DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉपअप

यह लोगों को आकर्षित करने के लिए ऑनलाइन विज्ञापन का एक तरीका है। कई बार आपने देखा होगा कि वेबसाइट खुलने के साथ ही एक विज्ञापन विंडो भी खुलती है, उसे पॉपअप कहते हैं। वेब पर इन विज्ञापनों की प्रोग्रामिंग के लिए जावा लैंग्वेज का प्रयोग किया जाता है। पॉपअप विंडो कई प्रकार की होती हैं। जनरल ब्राउजर पॉप-अप, यह बेसिक पॉप-अप होते हैं, जो किसी साइट के खुलने के साथ ही खुल जाते हैं, कभी-कभी तो इनकी संख्या इतनी बढ़ जाती है कि साइट पर कुछ पढ़ना भी दुश्वार हो जाता है।

स्पाइवेयर पॉपअप खतरनाक होते हैं, किसी सीडी को इंस्टाल करते वक्त अकसर स्पाईवेयर पॉपअप सिस्टम में आ जाते हैं। स्पाईवेयर वायरस इतने खतरनाक होते हैं कि कभी-कभी इनके माध्यम से आपके कंप्यूटर के जरूरी डाटा तक चुरा लिए जाते हैं। साथ ही इनके माध्यम से आपकी सíफंग हैबिट पर भी नजर रखी जा सकती है। इसके अलावा यह सिस्टम की हार्ड ड्राइव की काफी जगह भी घेरते हैं। कई वेब ब्राउजर ऐसे हैं जिनकी मदद से पॉपअप ब्लॉक किया जा सकता है। कई बार विज्ञापनों के अलावा वेबपेज पर माउस के कहीं और क्लिक करने से भी पॉपअप आ जाते हैं।

अगर आप फायरफॉक्स का इस्तेमाल करते हैं, तो अपने सिस्टम में जनरल ब्राउजर पॉपअप को ब्लॉक करने के लिए, टूल ओपन करने के बाद ऑप्शन में जाकर, कंटेंट में ब्लॉक अप विंडोज कर दें। यदि आप विंडोज इंटरनेट एक्सप्लोरर का इस्तेमाल करते हैं, तो टूल में पॉप ब्लॉकर में टर्न ऑन पॉपअप ब्लॉकर पर क्लिक करें। ओपेरा पहला ब्राउजर था, जिसने पॉपअप ब्लॉक करने का ऑप्शन दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पॉपअप