DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटाखा दुकान में लगी आग में 32 मरे

पटाखा दुकान में लगी आग में 32 मरे

तमिलनाडु में पटाखे की थोक दुकान में लगी आग की घटना में मौके से दो और शव बरामद होने के साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर 32 हो गयी है जबकि दीपावली की पूर्व संध्या पर हुए इस हादसे के सिलसिले में दुकान मालिक और एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने बताया कि यह आग पटाखों के गोदाम में शुक्रवार शाम सात बजे लगी। पुलिस को आशंका है कि आग लगने का कारण शार्ट सर्किट है। राजधानी चेन्नई से 90 किमी दूर तिरूवेल्लूर के जिलाधिकारी पालानी कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि शहर में स्थित पटाखों के गोदाम से बुरी तरह झुलसे 32 शवों को निकाला गया है। इस हादसे में तीन अन्य लोग भी झुलस गये हैं जिनका यहां के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अधिकतर शव की पहचान करना मुश्किल है। पुलिस ने आस पास के गांवों में खास कर पड़ोसी चित्तूर (आंध प्रदेश) जिले के गांवों में लोगों से अपील की है कि वह किसी भी लापता व्यक्ति के बारे में सूचना दें।

कुमार ने कहा कि तहसीलदार कार्यालय में 23 लोगों के परिजनों ने यह सूचना दी है कि उनका रिश्तेदार शुक्रवार से लापता हो गया है। इसमें 20 आंध्र प्रदेश के हैं जबकि तीन अन्य तमिलनाडु के हैं। मरने वालों में से अधिकतर के बारे में यह संभावना है कि वह चित्तूर के रहने वाले हैं।

पुलिस ने कहा कि मौके पर राहत और बचाव अभियान समाप्त हो गया है। उन्होंने कहा कि दो लोगों को इस सिलसिले में गिरफ्तार कर लिया गया है। इसमें दुकान के मालिक अनंत कुमार और एक अन्य व्यक्ति शामिल है। उन्होंने कहा कि शवों को पास के ही तिरूत्तानी स्थित सरकारी अस्पताल में भेजा गया है। दिवाली की पूर्व संध्या होने के कारण भीड़ अधिक थी जिससे अधिक लोग आग की चपेट में आये थे।

पुलिस के अनुसार हादसे के तुरंत बाद शवों को निकालने के प्रयास बिजली चले जाने से बाधित हुए। बिजली आपूर्ति बाधित हो जाने के कारण अंदर फंसे लोगों को रास्ता नहीं मिला जिसके कारण अधिकाधिक लोग हताहत हुए हैं। स्थानीय लोगों का आरोप है कि दुकानदार के पास दुकान का वैध लाइसेंस नहीं था। पिछले साल भी उसकी दुकान में एक साधारण हादसा हुआ था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पटाखा दुकान में लगी आग में 32 मरे