DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुमाऊं के आठ शिक्षक नपे

गढ़वाल मंडल के शिक्षकों में गजब का सुधार दिखा। बृहस्पतिवार को एक भी शिक्षक छुट्टी लिए बिना स्कूल से गायब नहीं था लेकिन कुमाऊं में आठ शिक्षक पकड़े गए और निलंबन के आदेश ने इनकी दीपावली को बेरौनक कर दिया। बुधवार को भी 12 शिक्षकों पर निलंबन की गाज गिरी।

त्यौहारी सीजन में प्रदेश के स्कूलों में शिक्षकों को ढूंढना मुश्किल काम था लेकिन इस बार स्कूलों की जांच-पड़ताल के अभियान के चलते शिक्षकों को चौकस रहना पड़ रहा है। बृहस्पतिवार को गढ़वाल मंडल के 389 स्कूलों की जांच हुई।

अच्छी खबर यह है कि एक भी शिक्षक गायब नहीं  मिला, जबकि मंडल में बुधवार को दस शिक्षक लापता पाए गए थे। छात्रों की उपस्थिति में भी मामूली सुधार दिख रहा है। गढ़वाल के स्कूलों में अनुपस्थिति का आंकड़ा 22.50 प्रतिशत रहा है। हरिद्वार में भी अब यह 30 प्रतिशत से नीचे आ गया है।

बृहस्पतिवार को कुमाऊं के 468 स्कूलों की जांच हुई। यहां आठ शिक्षकों को छुट्टी के बिना गैरहाजिर पाया गया। इनके निलंबन के आदेश जारी कर दिए गए हैं। कुमाऊं में बुधवार को दो शिक्षकों पर गाज गिरी थी। यहां 22 प्रतिशत छात्र ‘मिसिंग’ थे। मिसिंग छात्रों के मामले में हरिद्वार अब भी टॉप पर है।

इसके बाद देहरादून, उधमसिंहनगर की स्थिति भी अच्छी नहीं है। अलबत्ता, राहत की बात यह कि ठीक एक महीना प्रदेश के स्कूलों में मिसिंग छात्रों का प्रतिशत 30 के आसपास था, जबकि अब यह 22 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुमाऊं के आठ शिक्षक नपे