DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गलतफहमी हुई दूर कंडारी बने रहेंगे


भाजपा प्रदेश संगठन ने भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर छाए संकट के बादल पूरी तरह छंटने का दावा किया है। इस मुद्दे पर भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित ठाकर व प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल के बीच हुई वार्ता के बाद गलतफहमी दूर कर ली गयी है। 24 घंटे के अंदर एक बार फिर कहानी पलट गयी। अब विनोद कंडारी अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे। 

 इस बीच, ठाकर ने शुक्रवार को चुफाल के नाम भेजे पत्र में प्रदेश संगठन की ओर से कंडारी को अध्यक्ष बनाने संबंधी सुझाव को सहर्ष स्वीकार कर लिया।रातों रात बदले राजनीतिक  समीकरण के तहत प्रदेश अध्यक्ष ने ठाकर से फोन पर भी वार्ता की। वार्ता के बाद ठाकर ने ढाई बजे एक नया पत्र जारी किया। चुफाल को संबोधित पत्र में ठाकर ने लिखा है - ‘बीते कुछ समय से उत्तराखंड प्रदेश युवा मोर्चा अध्यक्ष पद रिक्त है। आपके द्वारा इस पद पर विनोद कंडारी के नाम का सुझाव प्राप्त हुआ।

संगठन को सुदृढ़ बनाने हेतु इस योग्य सुझाव को हमारी अनुमति है। मुङो आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि कंडारी के नेतृत्व में युवा मोर्चा का कार्य बूथ स्तर तक पहुंचेगा।’ पत्र की प्रतिलिपि राजनाथ सिंह, रामलाल के अलावा राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री व प्रदेश संगठन मंत्री को भी भेजी गयी है।

प्रदेश महामंत्री अजय भटट का भी कहना है कि अब सभी कयासों पर पूर्ण विराम लग गया है। अध्यक्ष के मनोनयन में जो प्रक्रिया अपनायी गयी थी उससे राष्ट्रीय नेतृत्व को अवगत करा दिया गया है। गौरतलब है कि गुरुवार को ठाकर ने नवनियुक्त कंडारी की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए मोर्चे की सभी इकाई भंग कर दी थी। ठाकर के कड़े रुख के बाद कंडारी की ताजपोशी भी खटायी में पड़ गयी थी। बहरहाल, उच्च स्तर पर हुए गहन मंथन के बाद कंडारी के मनोनयन को दिल्ली ने हरी झंडी देकर चुफाल के फैसले का मान भी रख लिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गलतफहमी हुई दूर कंडारी बने रहेंगे