DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगी एनएसजी

अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगी एनएसजी

मुंबई पर आतंकी हमले से सबक लेते हुए देश का अतिविशिष्ट आतंकवाद निरोधक बल एनएसजी दरवाजा तोड़ने वाले उपकरण समेत अत्याधुनिक हथियार प्रणाली खरीद रहा है। एनएसजी के स्वर्ण जयंती समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा किसी भी आतंकी खतरे का मुकाबला करने में एनएसजी कमांडो की मदद के लिए उच्च प्रौद्योगिकी वाले अत्याधुनिक हथियार खरीदे जायेंगे।
  
राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के महानिदेशक एनपीएस अलख ने बाद में कहा कि 26 नवंबर 2008 में मुंबई पर आतंकी हमले के अनुभव के आधार पर हमने रात में देखने वाले और दरवाजा तोड़ने के लिए कुछ उपकरणों की पहचान की थी। हम इन्हें खरीद रहे हैं। उन्होंने कहा कि नयी खरीद के तहत अधिक संख्या में अत्याधुनिक बंदूके खरीदी जायेंगी जिससे हमारे हथियारों का भंडार बढ़ेगा।
   
दरवाजा तोड़ने वाले उपकरणों का उपयोग विस्फोट से बंद द्वार को तोड़ने के लिए किया जाता है। इस तरह के अत्याधुनिका उपकरणों और नये उपकरणों की जरूरत मुंबई पर आतंकी हमले के बाद आपरेशन ब्लैक टारनेडो के दौरान होटलों और नरिमन हाउस में प्रवेश करने के दौरान महसूस की गई थी।
   
एनएसजी के महानिदेशक ने सेना की ओर से बल के लिए जवानों को उपलब्ध कराने में आनाकानी की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि सेना के अधिकारी चरणबद्ध तरीके से आते रहे हैं और हम उन्हें प्रशिक्षण पर भेज रहे हैं।
   
अलख ने कहा कि सेना भी विस्तार की प्रक्रिया में है और उन्हें भी अधिकारियों की कमी का सामना करना पड़ रहा है लेकिन सेना हमें अधिकारी उपलब्ध करा रही है। महानिदेशक ने एनएसजी के लिए एक समर्पित विमान की संभावना को खारिज नहीं किया लेकिन उन्होंने कहा कि अभी इसकी कोई जरूरत नहीं है।
   
उन्होंने कहा 26/11 हमले के बाद अब हम किसी भी नागरिक विमान को अभियान के लिए उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि एनएसजी के चार नये केंद्र इस वर्ष दिसंबर के मध्य तक काम करना शुरू कर देंगे। जहां कोलकाता और हैदराबाद में एनएसजी केन्द्रों का उन्नयन करते हुए क्षेत्रीय केंद्र का रूप दिया जायेगा जबकि मुंबई और चेन्नई में प्रत्येक में 241 कमांडो को तैनात किया जायेगा।
   
अलख ने कहा कि मुंबई और हैदरबाद में एनएसजी केंद्र में आवासीय और प्रशिक्षण सुविधा होगी और यह 30 नवंबर से काम करने लगेगा जबकि कोलकाता और चेन्नई में केंद्र 15 दिसंबर से शुरू हो जायेंगे। उन्होंने कहा कि नये केंद्रों में बम निरोधक दस्ता जल्द की परिचालन करने लगेगा। इस संबंध में संबंधित राज्यों के सहयोग से काम चल रहा है।
    
एनएसजी के महानिदेशक ने कहा कि नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन (एनबीसीसी) ने जमीनी स्तर पर कार्य को निर्धारित समय में पूरा करने का वायदा किया है। सरकार ने शु्क्रवार को कहा कि मुंबई पर आतंकी हमले के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की भूमिका का पुर्ननिर्धारण हुआ है और आतंकवाद से लड़ने के लिए सभी तरह की क्षमताओं का विस्तार किया जा रहा है।
  
एनएसजी बल के रजत जयंती समारोह में गृह मंत्री ने कहा कि एनएसजी को आगामी दिनों में उच्च प्रौद्योगिकी वाले अत्याधुनिक हथियार मिलने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न क्षेत्रों में प्रस्तावित एनएसजी केंद्र अगले छह महीने में शुरू हो जायेंगे। चिदंबरम ने कहा कि सरकार आतंकवाद से लड़ने की क्षमता का विस्तार कर रही है।
   
चिदंबरम ने कहा कि मुंबई में हुए आतंकवादी हमलों के दौरान एनएसजी कमांडो के सर्वोच्च बलिदान को देश कभी नहीं भूलेगा। हम प्रतिदिन, प्रति सप्ताह और प्रति माह आतंकवाद से लड़ने और देश के सम्मान, सम्प्रभुता और सुरक्षा को अक्षुण्ण रखने के लिए अपनी क्षमता में वृद्धि कर रहे हैं।
   
एनएसजी के स्वर्ण जयंती के अवसर पर देश में बढ़ते आतंकी खतरे और उससे उत्पन्न चुनौतियों के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड ने अपने हैरतंगेज कारनामों से दर्शाया कि मुंबई पर 26/11 हमले के बाद बदली हुई परिस्थिति में बल को कितना आधुनिक बनाया गया है और उसकी कितनी तैयारी है।
   
एनएसजी के कमांडो ने मुंबई पर आतंकी हमले के दौरान बल की कार्रवाई को दोहराया। एनएसजी कमांडो ने कामा हाउस, लियोपोल्ट कैफे, नरीमन हाउस आदि पर अपनी कार्रवाई का जीवंत प्रदर्शन किया। एनएसजी के कमांडो ने मुंबई पर आतंकी हमले के दौरान हेलीकाप्टर से इमारत पर उतरने और पैरा ग्लाइडिंग के अदभुत कारनामे का प्रदर्शन किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगी एनएसजी