DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटाखा बाजार में भीषण आग, दस लाख से अधिक की क्षति

कस्बे के पटाखा बाजार में शनिवार की दोपहर भीषण आग से किशोर की मौत हो गई तथा कई बच्चे झुलस गए। दस लाख से अधिक की आतिशबाजी तथा अन्य सामान जल कर राख हो गया। गुस्साए लोगों ने हाईवे पर आगजनी कर जाम लगा दिया। पुलिस ने लाठीचार्ज किया तो  लोगों ने अधिकारियों पर पथराव कर दिया। पथराव में सिपाही घायल हो गया। मौके पर पन्द्रह थानों से फोर्स भैजा गया है। 

पटाखा बाजार यहां रामलीला मैदान में लगा हुआ था। बाजार में लगभग 53 दुकानें लगी थीं।  सुबह 10 बजकर 10 मिनट पर एक दुकान से चिंगारी उठी। देखते ही देखते पल भर में तेज धमाकों और चिंगारियों के साथ सारी दुकानें धूा-धूकर जलने लगीं। दुकानदार दुकानों को छोड़कर भाग खड़े हुए। आग में झुलसे निर्मल (14 वर्ष) पुत्र शीशपाल निवासी खेड़ा की मौके पर ही मौत हो गई। दर्जनों बाइक, साइकिलें, 10 लाख की आतिशबाजी तथा अन्य सामान जलकर राख हो गया।

आगजनी को प्रशासन की लापरवाही मानते हुए लोगों ने हाईवे पर आगजनी कर अवरोधक लगा दिए। पुलिस और अद्र्घसैनिक बलों ने जाम लगा रहे लोगों को रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने अधिकारियों पर पथराव कर दिया। पथराव में सिपाही उदयवीर घायल हो गया।

डिबाई के विधायक गुड्ड पंडित के नेतृत्व में लोगों ने अधिकारियों का घेराव किया। स्थानीय विधायक वासुदेव बाबा और अघिकारियों के खिलाफ लोगों ने जमकर नारेबाजी की। इसके बाद भीड़ ने कोतवाली पर प्रदर्शन कर पुलिस और प्रशासन के खिलाफ रोष जताया। प्रशासन दोपहर तीन बजे तक घायलों की जानकारी नहीं जुटा पाया था।

पीड़ित सुरेश, गुलाब, गजराज, ऐदल और मुन्नी का कहना था कि प्रशासन ने पटाखा व्यापारियों से लाइसेंस देने के नाम पर सुविधा शुल्क लिया था पर कोई सुविधा नहीं  नहीं दी गई। यदि घटना दोपहर के समय होती तो हादसा और भी बड़ा होता। दमकल भी दुर्घटनास्थल पर काफी देर बाद पहुंचीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पटाखा बाजार में भीषण आग