DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन से सीमा विवाद सुलझाना होगाः भारत

चीन से सीमा विवाद सुलझाना होगाः भारत

अरुणाचल प्रदेश को लेकर वाकयुद्ध के बीच भारत ने कहा है कि हालिया घटनाक्रम ने दोनों देशों के लिए लंबित मुद्दों को अधिक गंभीरता और प्रतिबद्धता के साथ हल करने की आवश्यकता बढ़ा दी है।

विदेश सचिव निरूपमा राव ने कहा कि भारत और चीन के बीच का सीमा मुद्दा विश्व में सबसे अधिक जटिल सीमा विवादों में से है तथा दोनों देश इसे हल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमें वास्तविक नजरिया रखना चाहिए कि मतभेद हैं, सीमा क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण रेखा की धारणा को लेकर मतभेद हैं। इसके साथ ही भूक्षेत्र के दावों को लेकर भी मतभेद हैं।

अरुणाचल प्रदेश और चीन की सेना की घुसपैठ की हालिया चर्चा का जिक्र करते हुए निरूपमा राव ने कहा कि इसने दोनों पक्षों को अधिक गंभीरता और प्रतिबद्धता के साथ इन मुद्दों के हल के लिए एक साथ बैठने की आवश्यकता बढ़ा दी है।

सीमा मुद्दे को हल करने के लिए बातचीत पर निरूपमा राव ने कहा कि मतभेदों को दूर करने और समझ विकसित करने के लिए हमें अब भी काफी दूरी तय करनी है। इस संबंध में प्रगति हुई है, यह धीमी भले ही है लेकिन प्रगति हुई है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अरुणाचल यात्रा पर चीन की आपत्ति के बारे में उन्होंने कहा कि भारत इन्हें गंभीरता से लेता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीन से सीमा विवाद सुलझाना होगाः भारत