DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिकी संसद ने बापू के योगदान को याद किया

अमेरिकी संसद ने बापू के योगदान को याद किया

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में शुक्रवार को सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित कर अहिंसा के माध्यम से विश्व शांति को बढ़ावा देने में महात्मा गांधी के योगदान को रेखांकित किया गया जबकि अमेरिकी सांसदों ने उन्हें सर्वकालिक और सभी जगह के व्यक्ति करार दिया।

सांसद एनी फालेमावेगा ने सदन में अपने भाषण में कहा कि जहां महात्मा गांधी की महान कृतियों के बारे में बहुत कुछ कहा गया है, यह महत्वपूर्ण हैं और हम कभी नहीं भूल सकते हैं कि बिना गांधी के दुनिया के विशालतम लोकतंत्र भारत और प्राचीनतम लोकतंत्र अमेरिका की किस्मत बहुत ही जुदा होती।

महात्मा गांधी की 140वीं वर्षगांठ पर उनके सम्मान में एक प्रस्ताव फालेमावेगा और उनके अनेक सहयोगियों ने इस साल जून में पेश किया था। अमेरिकी सांसद ने कहा कि हालांकि उनका जीवन एक हत्यारे की गोली से खत्म कर दिया गया, उनकी विरासत डेढ़ अरब से ज्यादा लोगों में देखी जा सकती है जो भारतीय उपमहाद्वीप के मुक्त और आजाद देशों में वास करते हैं और अहिंसक राजनीतिक एक्शन, एकता और धार्मिक सहिष्णुता के उसूलों को अमेरिका के अंदर अपनाए जाने में विदित है।

फालेमावाएगा ने कहा कि महात्मा गांधी एक आंदोलन की प्रेरणा बने जिसने ब्रिटिश राज को खत्म किया और एक मुक्त एवं आजाद भारत का निर्माण किया। सांसद इलियाना रोस लेहतिनेन ने कहा कि गांधीजी अहिंसा में विश्वास करते थे और उन्होंने इसके विशिष्ट दर्शन का विकास किया था। इस दर्शन ने जवाहर लाल नेहरू से लेकर रेवरेंड मार्टिन लूथर किंग जूनियर और आंग सान सू ची तक को प्रभावित किया।

एड रायस ने गांधी जी का स्मरण करते हुए कहा कि वह पिछली सदी की सर्वाधिक आदरणीय हस्तियों में से एक थे। उन्होंने कहा कि अहिंसा का प्रचार प्रसार करते हुए गांधी ने अपना जीवन दूसरों की सहायता में समर्पित कर दिया। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता के रूप में गांधी ने गरीबी उन्मूलन के लिए अभियान चलाए। उन्होंने महिला अधिकार का दायरा बढ़ाने के लिए अभियानों का नेतृत्व किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिकी संसद ने बापू के योगदान को याद किया