DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हूपर को जाना होगा: कलमाड़ी

हूपर को जाना होगा: कलमाड़ी

दिल्ली 2010 राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी ने शुक्रवार को मुख्य कार्यकारी माइक हूपर को हटाने की अपनी मांग से पीछे हटने से इंकार करते हुए कहा कि वे सीजीएफ अध्यक्ष माइकल फेनेल से मिलकर अपनी बात पर जोर देंगे।

फेनेल ने शुक्रवार को जमैका से जारी एक बयान में हूपर को हटाए जाने की मांग खारिज कर दी जबकि कलमाड़ी का दावा है कि सीजीएफ प्रमुख फेनेल ने आयोजन समिति की इस मांग को पूरी तरह से नहीं ठुकराया है। हूपर को गैर उपयोगी बताते हुए उन्हें भारत से वापस भेजने की मांग करने वाले कलमाड़ी ने कहा कि फेनेल ने हमारी मांग को पूरी तरह से नहीं ठुकराया है। उन्होंने कहा कि हम 28 और 29 अक्तूबर को लंदन में मिलेंगे और इस बारे में विस्तार से बात करेंगे।

कलमाड़ी ने स्पष्ट किया कि राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) अगर हूपर को अपना मुख्यकार्यकारी बनाए रखना चाहते हैं तो हमें किसी तरह का ऐतराज नहीं है लेकिन यहां होने खेलों की आयोजन समिति हूपर को भारत में नहीं देखना चाहती।

कलमाड़ी ने कहा कि मैंने कभी भी हूपर को बर्खास्त करने के लिए नहीं कहा। मैंने केवल उन्हें बदलने की मांग की थी। हूपर राष्ट्रमंडल खेल महासंघ के मुख्यकार्यकारी हैं। वे उन्हें बहाल रख सकते हैं। मैं केवल इतना कह रहा हूं कि हूपर को भारत में मत रखों क्योंकि उनके यहां रहने से हम अपने काम पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं।

इससे पहले शुक्रवार को राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) ने साफ कर दिया कि वे न तो सीजीएफ के मुख्यकारी माइक हूपर को हटाएंगे और न ही दिल्ली खेलों की तैयारियों की निगरानी के लिए सुझाए गए तकनीकी निरीक्षण पैनल की योजना से पीछे हटेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हूपर को जाना होगा: कलमाड़ी