DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़पति बदमाशों ने उड़ाई इंजीनियर की अंगूठी

अपने को करोड़पति बताने वाले दो बदमाशों ने धोखे से एक ऑटोमोबाइल इंजीनियर को ठग लिया और इंजीनियर की हीरे की अंगूठी लेकर रफूचक्कर हो गए। इंजीनियर ने इसकी सूचना पुलिस को दी, पर इसे गंभीरता से नहीं लिया गया। आरोप है कि बदमाशों को पकड़ना तो दूर, चौकी इंचार्ज ने रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की। बाद में डीसीपी के हस्तक्षेप पर मामला दर्ज किया गया।


सेक्टर-17 आरडब्ल्यूए के एक्जक्यूटिव व ऑटोमोबाइल इंजीनियर रमेश चंद्र वर्मा 10 अक्तूबर को सेक्टर-15 मार्केट से अपनी इंडिका कार से लौट रहे थे। उस समय दो स्कूटर सवार युवकों ने उन्हें रुकने का इशारा किया। उन्होंने कार रोककर कारण पूछा। उनमें से एक कार का गेट खोल अगली सीट पर बैठ गया और रमेश के पैर छूने लगा। अपने को चौधरी प्रॉपर्टी डीलर का भतीजा राहुल चौधरी बताते हुए उसने पूर्व परिचित होने की बात कही।


नाटकीय अंदाज में युवक ने रमेश से कहा कि सर, मैं आप से अपने ताऊजी की दुकान पर मिला था। आपने मुझे आशीर्वाद देते हुए कहा था कि हमेशा ईमानदारी और मेहनत से काम करना। आपकी सीख से आज करोड़ों का ट्रांसपोर्ट का बिजनेस हो गया है। उसने रमेश को एक सोनी का कैमरा गिफ्ट देने की पेशकस की। उनके मना करने के बाद भी उसने कार में कैमरा रख दिया। चलते हुए उसने अपना बर्थडे होने की बात कही।


रमेश के मुताबिक जान पहचान का बच्चा समझ, वे उसे पांच सौ का नोट देने लगे। लेकिन उसने रुपए लेने से मना करते हुए सोने की पतली रिंग मांगी। उन्होंने देने की हामी भर ली। उंगली का नाप देने के लिए उसने रमेश की हीरे की अंगूठी उतरवा ली और अपनी उंगली में डाल ली। अंगूठी उंगली में फंसने का बहाना कर, वह बोला कि पास में 265 नंबर मेरा मकान है, चलिए तेल लगाकर अंगूठी आपकों दे देता हूं। जैसे ही वह कार से उतरने लगे, उससे पहले ही दोनों स्कूटर पर बैठकर रफूचक्कर हो गए। उन्होंने इसकी शिकायत सेक्टर-17 पुलिस से की। लेकिन उन्होंने मामला दर्ज नहीं किया।डीसीपी शशांक आनंद के फटकार लगाने पर चार दिन बाद मामला दर्ज किया गया। बाद में कैमरे की जगह केवल खाली डब्बा निकला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करोड़पति बदमाशों ने उड़ाई इंजीनियर की अंगूठी