DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बकाएदारों पर कसा शिकंजा

जीडीए ने पुराने डिफाल्टरों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। फिलहाल कमर्शल प्रोपर्टी के लाखों-करोंडों के बकाएदार निशाने पर हैं। इसके बाद आवासीय वाले हजारों बकाएदारों के पेंच कसे जाएंगे। बकाएदारों ने अगर नोटिस को अमल में नहीं लिया और पैसे जमा नहीं कराए, तो उसे डिफाल्टर की सूची में डालकर आवंटन निरस्त करने की कार्रवाई भी की जाएगी।


जीडीए का मानना है कि इन दोनों वर्गों के पुराने बकाएदारों पर ही लगभग साढ़े तीन सौ करोड़ रुपए बकाया हैं। अगर यह धनराशि अथॉरिटी के खजाने में जमा हो जाए,तो जमीन के अर्जन की कार्यवाही और तेज हो। लैंड बैंक मजबूत होने के बाद ही कुछ और नई आवासीय स्कीम लांच की जाएंगी।


उपाघ्यक्ष एनके चौधरी ने बताया कि दीपावली के उपलक्ष्य में कमर्शल प्रोपर्टियों की स्कीम लाई जाएगी। इनमे कई प्रोपर्टी ऐसी हैं, जिनका अब तक कोई खरीददार नहीं मिला। इसके अलावा 20 लाख से ऊपर के बकाएदारों को नोटिस दिए गए हैं। बकाएदारों में नेहरू विकास मीनार के अलावा राजनगर डिस्ट्रिक सेंटर के भी कई आंवटी हैं, जिन्होंने मंहगे दामों पर कमर्शल प्रोपर्टी की बोली लगाकर प्रोपर्टी पर कब्जा तो जमा लिया, लेकिन अब तक पैसा जमा नहीं कराया। चौधरी ने बताया कि बकाएदारों से अथॉरिटी के खजाने में पैसा आए, तो नूरनगर इंटीग्रेटिड टाउनशिप के पास छह-सात सौ एकड़ जमीन खरीदकर जीडीए की नई स्कीम लाई जाएगी।

एक नजर इनपर भी
-बीस लाख से ऊपर के हैं 25 कमर्शल बकाएदार
-आवासीय सेक्टर के हैं आठ हजार बकाएदार

ये हैं नीलामी की संपतियां
-स्वर्णजयंती पुरम में हैं शॉपिंग सेंटर के पांच भूखंड
-इंद्रप्रस्थ योजना में ग्रुप हाऊसिंग के तीन भूखंड
-इंदिरापुरम के न्यायखंड में अस्पताल का एक भूखंड
-गोविंदपुरम में कर्मशल यूज के दो भूखंड
-गोविंदपुरम,स्वर्णजयंती पुरम मे पेट्रोल पंप के दो भूखंड
-प्रतापविहार में शॉपिंग सेंटर के हैं पुराने भूखंड

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बकाएदारों पर कसा शिकंजा