DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए बॉस के आने पर

जब आपको पता चलता है कि ऑफिस में कोई नये बॉस आ गये हैं, तो आप बेचैन हो उठते हैं। लेकिन वास्तव में इससे परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। हां, शुरू में आपसी समझ के मामले में थोड़ी दिक्कत आ सकती है, लेकिन अगर आप कुछ जरूरी बातें ध्यान में रखें, तो इसके बाद नये बॉस से कामकाजी संबंध बनाने में कोई परेशानी नहीं आती। तो इन्हें आजमा कर देख लीजिए-

सशंकित न हों : आपके पहले वाले बॉस के काम करने के तरीके के बारे में आपको सब कुछ मालूम था, लेकिन ये तय है कि नये बॉस सब काम उसी अंदाज़ में नहीं करने वाले। सबका काम करने का अपना अलग तरीका होता है। इसलिए ये सोचकर सशंकित न हों कि न जाने अब क्या होगा? उनमें विश्वास रखिए और उनकी कमियां निकालने के बजाय उनकी मदद के लिए तैयार रहिए।

अड़ियल रुख छोड़ें : जो जैसा है, उसे वैसा ही स्वीकार कर लें। उनके काम करने और मैनेज करने के तरीके को लेकर दिमाग खुला रखें, और दिए गए टारगेट पूरे करें। याद रखें, अलग तरीके से काम करने का मतलब ये नहीं कि काम गलत हो जाएगा।

पहुंच में रहें : आपके बॉस ऑफिस में नए हैं, और उन्हें आते ही ये पता नहीं होता कि कौन कहां क्या काम करता है। इसलिए उनकी मदद के लिए तत्पर रहें। बॉस को बताएं कि कौन से काम में उनके दखल की दरकार है, और ऑफिस में आपका काम क्या है।

सब्र रखें : नए ऑफिस में सैटल होने में हरेक को वक्त लगता है। बॉस को भी। उन्हें सब कुछ समझने दीजिए। वे जो भी पूछें, बता दें।

शैली को समझों : बॉस की कार्यशैली को आंकें। वे आपके सर पर सवार रहते हैं, या आपको खुली छूट देते हैं? कैसे टीम मेंबर से संवाद करते हैं? पक्षपात तो नहीं करते? ये सब जानना जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नए बॉस के आने पर