DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेटली-राजनाथ विवाद में संघ बना रेफरी

भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और महासचिव अरुण जेटली के बीच चल रहे विवाद को खत्म करने के लिये संघ मैदान में कूद गया है। इन्ही कोशिशों के चलते भाजपा का काम देख रहे संघ के सह कार्यवाह सुरश सोनी और पार्टी के संगठन मंत्री रामलाल ने दोनों नेताओं से बातचीत की। सूत्रों का कहना है कि संघ इस विवाद से काफी खिन्न है। उसका मानना है कि ऐन चुनाव से पहले इस तरह के विवाद से पार्टी को नुकसान पहुंच रहा है। याद रहे कि मित्तल को पूर्वोत्तर का सह प्रभारी बनाये जाने से जेतली नाराज हैं और केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक का बहिष्कार कर रहे हैं। इस बीच पार्टी के पीएम इन वेटिंग लालकृष्ण आडवाणी ने कहा है कि इस विवाद से मीडिया की खबर अच्छी बन सकती है लेकिन पार्टी में कोई विवाद नहीं है। विपरीत इसके पूर्व अध्यक्ष वेंकैया नायडू ने यह स्वीकारा है कि विवाद है लेकिन वे इस बार में मीडिया में चर्चा नहीं करंगे। वहीं दूसरी ओर संगठन मंत्री रामलाल से मिलने के बाद सुधांशु मित्तल ने कहा है कि वे पार्टी के सिपाही हैं और पार्टी उन्हें जो आदेश देगी वह उसे मानने के लिये तैयार हैं। उन्होंने यह बात कहते हुये गेंद राजनाथ सिंह के पाले में डाल दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जेटली-राजनाथ विवाद में संघ बना रेफरी