DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहनाते ही उतार दिया कंडारी का ताज

प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल का पहला दांव ही उल्टा पड़ गया। धनतेरस पर भाजयुमो के मनोनीत अध्यक्ष विनोद कंडारी के सिर पर सजा ताज शाम को उतार लिया गया। भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित ठक्कर ने नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष विनोद कंडारी के मनोनयन को निरस्त कर दिया। साथ ही भाजयुमो की प्रदेश इकाइ को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है। 

गुरुवार को हुए इस हाई प्रोफाइल ड्रामे में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चुफाल को अजीबो-गरीब स्थिति से गुजरना पड़ा। दोपहर तक जहां आतिशबाजी और नारेबाजी का शोर था। सांझ ढलते ही सन्नाटा पसर गया। गौरतलब है कि धनतेरस की दोपहर ही   कंडारी ने मुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में कार्यभार ग्रहण किया था। लेकिन तीन घंटे बाद ही कहानी उलट गयी।

दिल्ली से मिले कड़े संदेश के बाद भाजपा संगठन देर सांय तक बैठकों के दौर में उलझा रहा। पुष्ट सूत्रों के मुताबिक भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कंडारी की नियुक्ति पर कई सवाल उठाते हुए प्रदेश संगठन को ही कठघरे में खड़ा कर दिया। अमित ठक्कर ने प्रदेश इकाई के अधिकारों की व्याख्या करते हुए कंडारी के मनोनयन को अवैध ठहराया। ठाकुर ने कहा कि भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति का अधिकार राष्ट्रीय नेतृत्व को है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहनाते ही उतार दिया कंडारी का ताज