DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रेमिका की समलैंगिक सहेली ने ली जान

काशीपुर में प्रवीण नाम के युवक की हत्या का खुलासा करते पुलिस समलैंगिक रिश्ते की एक अजीब कहानी सामने लायी है। मारे गए युवक प्रवीण की महिला मित्र से पूछताछ के बाद पुलिस का कहना है कि समलैंगिक प्यार की राह में सामान्य प्रेम के आड़े आने पर यह हत्याकांड हुआ।

बकौल पलिस प्रवीण की प्रेमिका रुकमणी ने स्वीकार किया है कि उसकी समलैंगिक दोस्त ने ऐसा किया। हालांकि अभी हत्या आरोपित बताई जा रही लड़की और उसका साथ देने वाले दो अन्य पुलिस के हाथ नहीं आए हैं। इनकी तलाश में एक टीम कानपुर पहुंच चुकी है।

प्रवीण हत्याकांड में अब तक हुई तफ्तीश के आधार पर कोतवाल ने बताया कि गांधी आश्रम के सेवानिवृत्त कर्मचारी रमेश चंद्र तिवारी का पुत्र प्रवीन अक्सर कानपुर में अपनी बहन के घर जाता रहता था। वहां एक मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव उसका पुराना दोस्त था। इसी बीच प्रवीण के दोस्त ने उसकी मुलाकात उजियार थाना नवाबगंज (कानपुर) की एक लड़की से कराई। दोनों में प्यार हो गया। यह लड़की प्रवीण के दोस्त की साली की सहेली थी और दोनों लड़कियों में समलैंगिक रिश्ते बन गए थे।

प्रेमी के रूप में एक लड़का मिल जाने के बाद रुकमणी समलैंगिग संबंधों से परहेज करने लगी। इसी से गुस्साई उसकी सहेली ने इस हत्याकांड का षडयंत्र रच डाला।   कोतवाल के मुताबिक, दस अक्तूबर को वह अपनी मौसी की लड़की और उसके प्रेमी के साथ काशीपुर पहुंच गई। तीन दिन होटल में गुजारने के बाद तीनों मंगलवार सुबह प्रवीन के घर पहुंचे और उसे अपने साथ गर्जिया मंदिर ले गए।

शाम को लौटे तो उन्होंने प्रवीन से रेलवे स्टेशन छोड़ने को कहा। सुनसान जगह देखते ही रुक्मणी की सहेली ने प्रवीन की कनपटी से  तमंचा सटा कर उसे गोली मार दी और तीनों फरार हो गए। बकौल कोतवाल रुक्मणी की सहेली ने उसे कहा था कि जब तक वह नहीं पहुंचती वह प्रवीण को न छोड़े।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रेमिका की समलैंगिक सहेली ने ली जान