DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद के आस-पास विकसित होगा सेटेलाइट टाउन

गाजियाबाद के आस-पास के क्षेत्र को सेटेलाइट टाउन बनाने की तैयारी है। इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। सेटेलाइट टाउन बन जाने के बाद गाजियाबाद और उसके आस-पास के कस्बों का चौतरफा विकास किया जाएगा। विकास कार्य के लिए 80 फीसदी धन केन्द्र सरकार से मिलेगा। गाजियाबाद के बाद दूसरे शहरों का भी इस  योजना के लिए चयन किया जाएगा। फिलहाल कॉमनवेल्थ गेम्स के चलते गाजियाबाद को जल्द ही विकसित कराने की योजना है।

केन्द्र सरकार यह योजना उन शहरों में लागू करेगी जहाँ जवाहरलाल नेहरू शहरी नवीनीकरण मिशन (जेएनएनयूआरएम) की योजनाएँ लागू नहीं हैं। इसके लिए केन्द्र ने राज्य सरकार को पत्र लिखा है। पत्र में केन्द्र सरकार ने कहा है कि बड़े शहरों खासकर मेट्रो शहरों में बढ़ रहे जनसंख्या के दबाव को कम करने के लिए सेटेलाइट टाउन विकसित करने की जरूरत है। ये शहर उन महानगरों में आसानी से विकसित किए जा सकते हैं जो विकास की राह पर हों, लेकिन आर्थिक संसाधनों की कमी के चलते पूरी तौर से विकसित न हो पा रहे हों।

बड़े शहरों के प्रति  लोगों के बढ़ रहे आकर्षण को कम करने के लिए केन्द्र की योजना है कि सेटेलाइट टाउन विकसित किए जाएँ और वहाँ लोगों को वही सुविधाएँ मुहैया कराई जाएँ जो मेट्रो शहरों में उपलब्ध होती हैं। इसमें सड़कों का चौड़ीकरण, अंतरराष्ट्रीय स्तर के कन्वेंसन हाल, मल्टी स्टोरीज पार्किग, सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल और बेहतर ट्रांसपोर्टेशन शामिल हैं। मॉल कल्चर और आधुनिक शिक्षा केन्द्र भी स्थापित किए जाएँ।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र होने के नाते राज्य सरकार गाजियाबाद को सेटेलाइट टाउन के रूप में विकसित करने पर विचार कर रही है। इसके लिए केन्द्र सरकार 80 प्रतिशत धन देगी और राज्य सरकार और नगर निगम को केवल 10-10 प्रतिशत धन लगाना होगा। प्रमुख सचिव नगर विकास आलोक रंजन ने गाजियाबाद को सेटेलाइट टाउन बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार करने पर सहमति दे दी है।

इस सम्बन्ध में जल्द ही केन्द्र और राज्य सरकार के बीच अनुबंध होगा। इस योजना का लाभ लेने के लिए नगर निगम को संविधान के 74वें संशोधन के तहत अधिकारों से लैस करना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गाजियाबाद के आस-पास विकसित होगा सेटेलाइट टाउन