DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लड़की की हत्या के मामले में आजीवन कारावास

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक लड़की की हत्या के मामले में सत्र न्यायालय द्वारा आजीवन कारावास की सजा पाए लल्लू मुसलमान की अपील को स्वीकार करते हुए उसे मिली सजा को रद कर दी है। यह आदेश न्यायमूर्ति राकेश तिवारी एवं न्यायमूर्ति एके रूपनवाल की खण्डपीठ ने पारित किया है। अपील में प्रस्तुत तथ्यों के अनुसार कानपुर नगर के नौबस्ता थाने में मोहन लाल ने 29 जून 2000 को प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

उसमें उसने अपनी नाबालिग पुत्री के गायब होने का आरोप लगाया था। बाद में एक गटर में लड़की की लाश बरामद हुई थी। इस मामले पर सुनवाई करते हुए कानपुर के अपर सत्र न्यायाधीश/फास्ट ट्रैक कोर्ट ने कल्लू मुसलमान को आजीवन कारावास की सजा 12 जून 03 को सुनाई थी जिसे उसने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। हाईकोर्ट ने उसे मिली आजीवन कारावास की सजा को रद कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लड़की की हत्या के मामले में आजीवन कारावास