DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलूच के आतंकवाद से भारत का कोई नाता नहीं: थरूर

बलूच के आतंकवाद से भारत का कोई नाता नहीं: थरूर

भारत ने कहा है कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के आतंकवाद में उसकी कोई भूमिका नहीं है और कुछ अन्य देशों की तरह वह अपने पड़ोसियों को अस्थिर करने की नीति में यकीन नहीं रखता।

विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर ने गुरुवार को बलूचिस्तान के अलगाववादी आंदोलन को भारत का समर्थन होने संबंधी पाकिस्तान के हालिया आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा हम एक चीज एकदम साफ करना चाहेंगे। हमारी अपने पड़ोसियों को अस्थिर करने की नीति नहीं है।

थरूर ने कहा कि पड़ोस के प्रति भारत की नीति और कुछ अन्य देशों की नीति में बहुत बड़ा अंतर है जो पूर्व में भारतीय जमीन पर आतंकवादियों को भेजने में महत्वपूर्ण कारक रहे हैं। उन्होंने इस बात को भी रेखांकित किया कि पाकिस्तान की ओर से इस बात के कोई सुबूत मुहैया नहीं कराए गए हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि भारत अपने किसी भी पड़ोसी देश में अवांछित गतिविधि में शामिल नहीं है।

थरूर ने हालांकि कहा कि यदि पाकिस्तानी वास्तव में यह मानते हैं कि उनके पास हमें बताने को कुछ है तो उन्हें ऐसा कोई सुबूत हमें सौंपने में हिचकना नहीं चाहिए।

पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दोहराया था कि बलूचिस्तान में अशांति से भारत का कोई संबंध नहीं है। पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने आरोप लगाया था कि भारत बलूचिस्तान में आतंकवादियों को हथियार दे रहा है। मनमोहन ने इस पर कहा कि यह पूरी तरह गलत है।

अमेरिका की यात्रा पर आए थरूर ने कहा कि हमने लगातार यह रुख अपनाया है कि हम अपने तमाम पड़ोसियों के साथ स्थिर दोस्ताना रिश्ते चाहते हैं और हम उनकी खुशहाली में इजाफा करना चाहते हैं। विदेश राज्य मंत्री ने पड़ोसी देशों के साथ स्वस्थ रिश्तों की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि भारत की कोई मंशा या रूचि पाकिस्तान के प्राधिकार को कमजोर करने की नहीं है और हमारी अतीत की कार्रवाइयां इसका समर्थन करती हैं।

थरूर ने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत ने 1990 के दशक में ही पाकिस्तान को तरजीही देश का दर्जा प्रदान कर दिया था और पाकिस्तान ने इसके जवाब में अभी तक भारत को यह दर्जा नहीं दिया है। विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि यह पड़ोसी देश को अस्थिर करने की चाह रखने वाले किसी देश की कार्रवाई नहीं है कि वह इस तरह के व्यापारिक विशेषाधिकार की पेशकश करे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलूच के आतंकवाद से भारत का कोई नाता नहीं: थरूर