DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुरानी दिल्ली में दीवाली की दुकानदारी

पुरानी दिल्ली में दीवाली की दुकानदारी

यूं तो दीवाली पर आप कहीं से भी सामान खरीद सकते हैं, मगर ज्यादा सस्ते और अच्छे सामान की खरीदारी के लिए पुरानी दिल्ली की ओर रुख करना आपके लिए बेहतर रहेगा। लाल किले से एक किलोमीटर दूर स्थित है 700 से भी अधिक दुकानों वाला पुरानी दिल्ली का 350 वर्ष पुराना चांदनी चौक और चावड़ी बाजर। ऐसे बाजर, जहां आम दिनों की रौनक ही कुछ कम नहीं होती। दीवाली के सामान के लिए तो यह एक ऐसा बाजर है, जहां आपको अपनी पसंद का सभी सामान मिल जाएगा।

कूचा महाजनी के चांदी के गहने
एशिया की सबसे बड़ी चांदी मार्केट अर्थात् कूचा महाजनी में यदि आप आंखें बंद करके भी चांदी या सोने के आभूषण खरीदें तो इस बात की गारंटी रहेगी कि उनमें खोट नहीं होगा। यहां के आभूषणों की एक और विशेषता यह है कि विदेशों में बन रहे नए-नए डिजाइन एवं आकार के गहने भी आप को यहां उपलब्ध हो जाएंगे। यहां पर तैयार गहने अमेरिका, इटली, फ्रांस, मलेशिया, अस्ट्रेलिया आदि में भी निर्यात होते हैं। यहां की कारीगरी इतनी महीन होती है कि मात्र दस ग्राम सोने में ही कीमती पत्थरों से सुसज्जित एक सैट बन जाता है।

चांदनी चौक की मिठाइयां
यहां पर आप एसी, सोना-चांदी, कपड़ा, कैमरा, फुटवियर, इत्र, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और रेक्सीन से बने सामान के अलावा भी बहुत कुछ खरीद सकते हैं।  चांदनी चौक मिठाइयों के लिए खासतौर पर जना जाता है।  मिठाइयों में  आप हल्दीराम, घंटेवाला, तिवारी स्वीट्स, अन्नापूर्णा, कंवरजी, चैनाराम, जलेबीवाला, श्याम स्वीट्स और बीकानेर वाला से ताजी, स्वादिष्ट एवं बढ़िया मिठाइयां खरीद सकते हैं। इसके अतिरिक्त चांदनी चौक के  गली-कूचों में भी बढ़िया एवं मजेदार मिठाइयां बनती हैं। यहां पर कई मिठाइयों की दुकानें तो मुगलों के समय से ही हैं।

कपड़े का थोक बाजार
बकौल दिल्ली हिन्दुस्तानी मर्केन्टाइल महामंत्री सुरेश बिन्दल, यदि आप त्योहारों व शादियों के लिए सबसे बढ़िया और सस्ता कपड़ा लेना चाहते हैं तो उसके लिए चांदनी चौक से बेहतर जगह कोई न होगी। यहां पर कृष्णा क्लॉथ मार्केट, कटरा नील, नई सड़क एवं कूचों-कटरों आदि में कपड़ों का खुदरा एवं थोक कारोबार होता है। देश-विदेश से यहां लोग कपड़ा लेने तो आते ही हैं, साथ ही साथ मेन रोड पर रेडीमेड कपड़ों के लिए आप को पैंट-शर्ट, कुर्ता-पाजामा, फैन्सी सूट, ऊनी कपड़े, अंडर गारमेंट्स, साड़ियां आदि दीवाली के डिस्काउंट के साथ मिल जाएंगी।

सबसे पहले यदि पुरुषों के कपड़े की बात करें तो कूचा रहमान में पुरुषों के लिए पैंटों का बेहतरीन कपड़ा मिल के रेट पर मिल जाता है। इसी प्रकार से यहां पर कमीजों का कपड़ा भी सस्ते दामों में उपलब्ध है। सस्ती और डिजाइनर सूट-लैंथ की रेंज भी आपको यहां मिलेगी। सेंचुरी मिल से लेकर किसी भी अन्य मिल का कपड़ा यहां आपको एक ही जगह मिल जएगा। इसी बाजर से  कपड़ा साउथ एक्स, करौल बाग, लाजपत नगर आदि बड़े मार्केट समेत देश के विभिन्न राज्यों में जाता है।

इसके बाद महिलाओं के कपड़ों के लिए यह मार्केट देशभर में प्रसिद्ध है। गली घंटेवाली, कूचा अशरफी और कटरा शहन्शाही में जहां कभी तराजू में तौल कर कपड़ा बेचा जाता था, अब यहां भारत की छोटी-बड़ी सभी मिलों के कपड़े मिलते हैं। लेडीज कपड़ों के लिए कटरा नवाब, कटरा प्यारेलाल, कटरा चौबान, नया कटरा, कटरा मोहन, कटरा सुभाष, कटरा हरदयाल, कूचा नटवा, कूचा काबिल अत्तार, कटरा लेहस्वां, कटरा नगीनचंद आदि की ओर जाना होगा।

साड़ियों का संसार
लेडीज कपड़ों में साड़ी और लहंगे का जिक्र न हो तो बात अधूरी-सी लगती है। आज भी भारत का साड़ियों का मुख्य बाजार चांदनी चौक एवं उसके पुराने कटरे ही हैं, मगर अब यह धीरे-धीरे नई सड़क पर शिफ्ट हो रहा है। आजकल यहां वाराणसी, मदुरै, कोलकाता, गुजरात, जयपुर और मुंबई में तैयार साड़ियां दीवाली के विशेष ऑफर पर 50 प्रतिशत छूट तक मिल जाती हैं। यहां हाथ और मशीन दोनों के काम की साड़ियां मिलती हैं। गोटा, तारकशी, कारचोब, जरी, सोना, चांदी आदि  के काम की साड़ियां भी यहां हैं।

बल्लीमारान में फुटवियर
लेडीज के लिए सबसे बढ़िया, टै्रंडी और नाना प्रकार की चप्पलों, सैंडिलों और  जूतों आदि के लिए चांदनी चौक का बल्लीमारान इस समय भारत की सबसे बड़ी फुटवियर मंडियों में से है। यहां से लेडीज फुटवियर एक्सपोर्ट भी किए जाते हैं। त्योहारों के अवसर पर मलक फुटवियर पर सबसे अधिक वैरायटी मिलती है। इकबाल मलक बताते हैं कि दीवाली के अवसर पर उनके यहां ईद की तुलना में कहीं अधिक बिक्री होती है। उनके यहां फुटवियर के 500 से भी अधिक डिजाइन मिलते हैं, वो भी थोक दामों पर।

बर्तनों की दुनिया
चांदनी चौक में बर्तन भी मिलते हैं। चांदनी चौक के अतिरिक्त पहले चावड़ी बाजार बर्तनों का थोक बाजार हुआ करता था। ये अलग बात है कि अब बर्तनों की जगह काफी हद तक यहां पर कागजियों की दुकानों ने ले ली है, जहां शादी-ब्याह आदि के कार्ड एम्पोरियम बन गए हैं।

सबसे बड़ी हार्डवेयर मंडी
यदि आधा चावड़ी बाजार बर्तनों और कागज के लिए प्रसिद्घ है तो आधा हार्ड वेयर के सामान के लिए। यह बाजार इस समय हार्डवेयर के मामले में विश्व का सबसे बड़ा थोक बाजार है। इस बाजार में दीवाली पर विशेष छूट मिलती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुरानी दिल्ली में दीवाली की दुकानदारी