DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आधा दर्जन हथियारबंद लोगों को देखने से ग्रामीणों में दहशत

विकास खण्ड के गांव बाजपुर में मंगलवार को लगभग आधा दर्जन संदिग्ध हथियारबंद लोगों को देखे जाने से दहशत का माहौल बना हुआ है। लोग इसे आंतकबाद की पुनः दस्तक मान रहे हैं। सूचना पर पुलिस ने बुधवार को पांच एसआई के नेतृत्व में लगभग चार दजर्न कास्टेबिलों व ग्रामीणों के साथ सघन छानबीन की। वहीं मामलें में आतंकवाद के दौर में आंतकियों के मुख्य निशानें पर रहे शर्मा परिवार के फार्म हाऊस के पास संदिग्धों के देखें जानें से बड़ी दुर्घटना से इंकार नहीं किया जा सकता।


गांव बाजपुर के ग्रामीण बीते कई दिनों से खेतों में हथियारबंद आधा दर्जन लोगों को देखे जाने का मामला प्रकाश में आया था। लेकिन पुलिस ने सूचना के बावजूद इस पर कड़े कदम नहीं उठाए। मंगलवार को भी संदिग्ध लोग हथियार लिए हुए नजर आए। जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर छानबीन की तो ज्यादा सफलता न मिलते हुए एक चारे के खेत से गुटके, तम्बाकू, बीड़ी के रैपर व चिप्स का पैकेट मिला। वहीं सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को दो बच्चों के साथ एक बुजर्ग को खेतों की तरफ खाना ले जाते हुए भी देखा गया है। ग्राम प्रधान जोगेंद्र सिंह ने बताया कि कई दिन से हथियारबंध संदिग्ध लोगों को गन्ने के खेतों की तरफ देखा गया है।

बुधवार को एसएसआई रवि सैनी, दोराहा चौकी इंचार्ज भूपाल सिंह खाती, एसआई जितेंद्र चौहान, एसआई आर एस कसाना, एसआई कुन्दन सिंह के साथ लगभग दो दजर्न कांस्टेविलों व ग्रामीणों के साथ गन्ने के खेतों में सघन छानबीन की, जिसमें कोई सफलता नहीं मिली। वहीं संदिग्ध हथियारंद लोगों के देखे जाने की जगह से लगभग 500 मीटर की दूरी पर शर्मा बंधुओं का फार्म हाऊस है। 1992-93 के आतंकवाद के दौर में शर्मा परिवार आंतकियों के निशानें पर रह चुका है। जिसमें शर्मा परिवार को जनहानि भी हुई थी। संदिग्ध हथियारबंद लोगों को फार्म हाऊस के आस-पास देखे जाने से बदमाशों के किसी बड़ी दुघर्टना को अंजाम देने से भी इंकार नहीं किया जा सकता। इससे क्षेत्र के लोंगों में भय बना हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आधा दर्जन हथियारबंद लोगों को देखने से ग्रामीणों में दहशत