DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ का निजी सचिव मुक्त

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के निजी सचिव शिव दत्त को बुधवार को अपहर्ताओं के चंगुल से छुड़ा लिया गया। फिरौती की खातिर दत्त का अपहरण करने वाले तीन अपहर्ता नोएडा पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए।


यह मुठभेड़ नोएडा के फेस टू पुलिस स्टेशन के सेक्टर-88 में हुई। दत्त के पिता की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए नोएडा पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया।


दत्त के पिता ने बताया कि उनका पुत्र रोज शाम सात बजे के करीब घर लौट आता था, लेकिन मंगलवार को जब वह घर नहीं पहुंचा तो इस बारे में उन्होंने पुलिस को जानकारी दी।
पुलिस निरीक्षक एसकेएस प्रताप ने बताया कि दत्त के पिता के पास शाम 7.45 के करीब अपहर्ताओं ने फोन कर उनके एटीएम कार्ड का पिन कोड जानना चाहा। उसके घंटा भर बाद अपहर्ताओं ने दोबारा फोन किया और इस बार उन्होंने एक लाख रुपए फिरौती की मांग की। मोबाइल फोन से अपहर्ताओं के ठिकाने का पता लगा लिया गया, वे सेक्टर-88 में थे।


प्रताप ने बताया कि बुधवार सुबह लगभग पांच बजे सफेद रंग की इंडिका कार में सवार होकर जा रहे अपहर्ताओं का पुलिस ने पीछा किया। अपहर्ताओं ने पुलिस पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। मुठभेड़ में तीन अपहर्ता घायल हो गए। बाद में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
अपहर्ताओं में से एक की पहचान शेखर शर्मा के रूप में की गई है। वह ग्रेटर नोएडा का रहने वाला था, जबकि दो अन्य की पहचान लोनी के मोहम्मद वसीम और मौजपुर के इमरान के रूप में की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ का निजी सचिव मुक्त