DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एयर इंडिया 3000 करोड़ तक लागत घटाएगी

एयर इंडिया 3000 करोड़ तक लागत घटाएगी

नागर विमानन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने बुधवार को कहा कि एयर इंडिया अपनी लागत 3,000 करोड़ रुपये तक घटाएगी और हर साल आय में 2,000 करोड़ रुपये तक की बढ़ोतरी करेगी। सरकार द्वारा कंपनी में इक्विटी निवेश किए जाने की भी संभावना है।

पटेल ने बुधवार को एयर इंडिया के कर्मचारियों की यूनियनों एवं प्रबंधन से अलग-अलग मुलाकात करने के बाद संवाददाताओं को बताया कि एक कदम इक्विटी निवेश का होगा, जबकि दूसरा कदम महंगे ऋणों को सस्ते ऋणों में तब्दील करने का होगा। उन्होंने कहा कि नागर विमानन मंत्रालय ने एयर इंडिया में इक्विटी निवेश पर एक मसौदा पत्र तैयार किया है जिसे आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी के पास भेजा जा रहा है।

लागत घटाने एवं आय बढ़ाने के लिए किए जा रहे कई उपायों में लीज पर लिए गए विमानों को लौटाना एवं कुछ नए विमानों को लीज पर देना भी शामिल है। उल्लेखनीय है कि सार्वजनिक क्षेत्र की एयर इंडिया को 7,200 करोड़ रुपये से अधिक का घाटा होने का अनुमान है।

पटेल ने कहा कि हवाई यातायात में पिछले छह महीनों में सुधार हुआ है और बाजार परिदृश्य निश्चित तौर पर पिछले एक-दो महीनों में थोड़ा सुधरा है। उन्होंने कहा कि सरकार अपने रुख पर अब भी कायम है कि सरकार तभी एयर इंडिया की मदद को आगे आएगी जब कंपनी लागत में उल्लेखनीय कमी करेगी और आय बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि कंपनी सालाना लागत में करीब 3,000 करोड़ रुपये की कमी लाने और आय में 2,000 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी करने की संभावना तलाश रही है।

मंत्री ने कहा कि इससे एयर इंडिया कुछ ही वर्षों में सुधार की पटरी पर आ जाएगी। उन्होंने कहा कि विमानन कंपनी ने छह बोइंग 777 विमानों की डिलीवरी दो वर्षों तक टालने का निर्णय किया है। साथ ही कंपनी अगले एक-दो वर्ष में लीज पर लिए विमानों के एक बड़े बेड़े को रिटायर करने की प्रक्रिया में है। एयर इंडिया की 14 यूनियनों के प्रतिनिधियों के साथ हुई मुलाकात को सकारात्मक बताते हुए पटेल ने कहा कि यूनियनें काफी समझदार हैं और वे समस्याओं से अवगत हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एयर इंडिया 3000 करोड़ तक लागत घटाएगी