DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्थिक दर 6.5 फीसदी रहने की संभावना: रंगराजन

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के चेयरमैन सी रंगराजन ने बुधवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि दर लगभग 6.5 फीसदी रहने की संभावना है।

कम बारिश के कारण कृषि उत्पादन कम रहने से आर्थिक वृद्धि दर पिछले वित्त वर्ष के 6.7 फीसदी के मुकाबले थोड़ी कम रहेगी। रंगराजन ने कहा कि मुझे लगता है कि औद्योगिक क्षेत्र और सेवा क्षेत्र में वृद्धि बेहतर रहेगी। कृषि उत्पादन में थोड़ी गिरावट हो सकती है। इन सबके परिणामस्वरूप वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहेगी जो युक्तिसंगत लगता है।

अर्थव्यवस्था की स्थिति पर आयोजित एक सेमिनार में उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6 से 6. 5 फीसदी रहेगी। संभवत: यह ऊपरी सीमा के करीब रहेगी। उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादन में कमी के बावजूद अगर चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहती है तो निश्चित रूप से पिछले साल के मुकाबले आर्थिक विस्तार कम होगा लेकिन इसे मौजूदा माहौल में तर्कसंगत कहा जा सकता है। सितंबर 2008 के बाद से वैश्विक वित्तीय संकट के कारण आर्थिक वृद्धि दर मंद हुई है।

अमेरिकी कंपनी लीमन ब्रदर्स के दिवालिया होने के बाद आर्थिक वृद्धि दर 2008-09 की अंतिम दो तिमाही में 5.8 फीसदी रही जबकि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 6. 1 फीसदी रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आर्थिक दर 6.5 फीसदी रहने की संभावना: रंगराजन