DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीतकर भी हारा वायम्बा

जीतकर भी हारा वायम्बा

शानदार शुरुआत को वायम्बा के गेंदबाजों ने आखिर तक कायम रखकर विक्टोरिया बुशरेंजर्स को चैंपियंस लीग टवेंटी 20 टूर्नामेंट में मंगलवार को 15 रन से शिकस्त देने में अहम भूमिका निभाई, लेकिन इस जीत के बावजूद पिछले मैच की करारी हार के कारण श्रीलंकाई टीम को बाहर का रास्ता देखना पड़ा।

विक्टोरिया ने पिछले मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को सात विकेट से हराया था, जबकि भारतीय क्लब ने वायम्बा को अगले मैच में 50 रन से शिकस्त दी। इससे वायम्बा का रनरेट माइनस में रहा, जबकि विक्टोरिया की टीम ग्रुप डी में डेयरडेविल्स के बाद दूसरे स्थान पर रहकर सुपर आठ में पहुंची।

टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिए उतरे वायम्बा को जीवंता कुलातुंगा (41) और माइकल वैंडोर्ट (42) ने दूसरे विकेट के लिए 81 रन जोड़कर शुरुआती झटके से उबारा, लेकिन तीन ओवर में दस रन के अंदर छह विकेट गंवाने से उसकी टीम बाद के ओवरों में तेजी से रन जुटाने में असफल रही और नौ विकेट पर 118 रन ही बना पाई।

वायम्बा को अगले दौर में पहुंचने के लिए विक्टोरिया को 83 रन से पहले रोकना था, लेकिन आस्ट्रेलियाई क्लब इस बैरियर को पार करने में सफल रहा। विक्टोरिया ने बेहद धीमी शुरुआत की, जो आखिर में उसकी हार का कारण भी बनी, लेकिन एंड्रयू मैकडोनाल्ड ने 16 गेंदों पर नाबाद 27 रन की तूफानी पारी खेलकर टीम को सुपर आठ में पहुंचा दिया। उनके अलावा ब्रैड हॉज ने 52 गेंदों पर नाबाद 44 रन बनाए, लेकिन विक्टोरिया की टीम चार विकेट पर 103 रन ही बना सकी।

डेयरडेविल्स अब सुपर आठ का अपना पहला मैच 17 अक्तूबर को बैंगलुरू में, जबकि विक्टोरिया इसी शहर में 15 अक्तूबर को अगले दौर की शुरुआत करेगी। वायम्बा के गेंदबाजों ने कोटला की पिच का भरपूर फायदा उठाकर विरोधी टीम को रनों के लिए तरसा दिया। आलम यह था कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर के बल्लेबाज हॉज और डेविड हसी को भी रन बनाने के लिए जूझना पड़ा।

वेलगेदारा (18 रन देकर दो विकेट) ने शुरू में पिछले मैच के नायक राब क्वीनी और एडन ब्लिजार्ड को पवेलियन भेज दिया। दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 40 रन बनाने वाले क्वीनी का उन्होंने पारी की तीसरी गेंद पर एक हाथ से खूबसूरत कैच लिया। हसी पिच से किसी भी समय सामंजस्य नहीं बिठा पाए और फारवेज महरूफ की गेंद पर बोल्ड होने से पहले 22 गेंदों पर केवल सात रन बना पाए।

यह सही था कि गेंद नीची रह रही थी, लेकिन विक्टोरिया के बल्लेबाज भी शुरू में अपनी क्षमता के अनुरूप नहीं खेल पाए जिसका अंदाजा पहले दस ओवर में दो विकेट पर 37 रन बनने से लगाया जा सकता है। उसकी स्थिति और बुरी होती यदि विकेटकीपर की जिम्मेदारी निभा रहे महेला जयवर्धने ने स्टंप आउट करने के दो आसान मौके नहीं गंवाए होते।

कप्तान कैमरून व्हाइट (11) के आउट होने के बाद क्रीज पर उतरे मैकडोनाल्ड की पारी टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। उन्होंने कौशल लोकुराची के एक ओवर में लगातार तीन चौके जड़कर टीम का स्कोर 83 रन के पार पहुंचाया और अगली गेंद पर लांग आन पर छक्का जड़ा।

इससे पहले वायम्बा के बल्लेबाजों को शुरू में रन बनाने के लिए जूझना पड़ा। पीटर सिडल ने अपने पहले ओवर में ही महेला उडावते को एलबीडब्ल्यू कर दिया, जिससे श्रीलंकाई क्लब के बल्लेबाज दबाव में आ गए। पावरप्ले के पहले छह ओवर में केवल 16 रन बने और सिर्फ एक बार गेंद सीमा रेखा पार गई।

कुलातुंगा और वैंडोर्ट दोनों छठे ओवर में रन आउट होने से बचे और उन्होंने इसका अच्छा फायदा उठाया। जान हॉलैंड के शुरुआती ओवर में ही 14 रन बने, जिसमें कुलातुंगा और वैंडोर्ट का एक-एक छक्का शामिल है। क्लाइंट मैकॉय ने 15वें ओवर में इन दोनों बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। उन्होंने वैंडोर्ट का लेग स्टंप पांच फीट दूर फेंका, तो कुलतुंगा को लांग ऑन सीमा रेखा के करीब एंड्रयू मैकडोनाल्ड के हाथों कैच कराया। वैंडोर्ट ने अपनी पारी में 44 गेंद खेली तथा तीन चौके और एक छक्का लगाया, जबकि कुलातुंगा की 39 गेंदों की पारी में तीन चौके और दो छक्के शामिल हैं।

इस साझेदारी के टूटते ही विकेटों की झड़ी लग गई। वायम्बा ने 99 रन के स्कोर पर तीन विकेट गंवाए, जिसमें श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने (3) और कप्तान जेहान मुबारक (10) भी शामिल हैं। आस्ट्रेलियाई क्लब की तरफ से शेन हारवुड ने 14 रन देकर तीन विकेट लिए और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया, जबकि मैकाय और मैकडोनाल्ड को दो-दो विकेट मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीतकर भी हारा वायम्बा